क्या जरूरी है बच्चों की जासूसी

 

बढ़ते बच्चों की जासूसी हर युग में होती रही है। कई बार इसका पता बच्चों को चल जाता है और कई बार वो इससे अंजान होते हैं।ऐसा करने के पहले मां-बाप को गिल्ट भी महसूस होता है कि कहीं उनका बच्चा ऐसा न समझे की मां-बाप उनपर विश्वास नहीं करते। बढ़ते बच्चों की परवरिश पैरेंट्स के लिए और खास हो जाती है। ये वो दौर होता है जब बच्चों को सबसे ज्यादा देख-रेख की जरुरत होती है। इस समय बच्चे नए दोस्त और नयी चीजों से रूबरु होते हैं। ऐसे में उनपर नजर रखना जरूरी है। इस समय कई बार वो गलत संगति में भी पड़ जाते हैं। बच्चों पर नजर रखना उतना ही जरूरी है जितना की उनकी सही परवरिश करना ।

Untitled design (25)

 

Image source
डरे नहीं फर्ज निभाएं- अक्सर मां-बाप को इसका बात दुख होता है कि वो अपने ही बच्चे की जासूसी कर रहे हैं। ये कहीं से भी गलत नही है। इसी तरीके से आपको पता चलेगा कि बच्चा किस रास्ते पर है। इससे उनको सही रास्ता दिखाने में आसानी होगी। बच्चे के बारे में अगर जानकारी नही रखी जाएगी तो वो उनका सही रास्ता दिखाना भी मुश्किल होगा। इसलिए पैरेंटस का फर्ज निभाएं और बच्चे पर नजर रखें।

आसान नहीं ये काम– इतना आसान नहीं है बच्चों के बारे में जानकारी रखना। स्कूल,टयूशन और स्पोर्ट हर जगह हर तरह के लोगों के साथ बच्चे मिलते हैं। ऐसे में कब किस संगति में वो हो जाएं इसका पता चलना मुश्किल है। लगभग 60 प्रतिशत पैरेटस बच्चे के आॅनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखते हैं। वहीं एक समय के बाद मां बाप भी इतने अपडेट नहीं रह पाते कि वो टैक्नाॅलजी से जुड़ी हर चीज को जान सकें। दूसरी तरफ वो ये भी सोचते हैं कि बच्चे की जासूसी करके वो कहीं उनकी आज़ादी तो नहीं छीन रहे हैं।

mom's under pressure of doing work around the house - ZenParent

कुछ करें- बच्चे किसके घर जाते हैं। उनके दोस्त कौन हैं इस बारे में जानना आजकल बहुत जरूरी है। इसके लिए उनके दोस्तों को घर पर बुलाएं। उनके टीचर्स और पडोसियों से मिलें। अचानक से उनको स्कूल लेने चले जाएं। कभी कभार बच्चे के सेलफोन से काॅल भी कर लें।

डर नहीं समझदारी से काम लें- अभिभावकों को ऐसा लगता है कि बच्चों को पता चलेगा कि उनके पैरेंटस उनपर नजर रखते हैं। तो वो अपने बच्चों का विश्वास खो सकते हैं। ऐसे में डरने की जरूरत नहीं है बल्कि इस बात को ज्यादा गंभीरता से सोचने की जरूरत है कि कल को बच्चे ये न कहें कि मेरे पैरेंटस ने मुझे सही रास्ता नहीं दिखाया।

खुद को करें अपडेट– बच्चे का साथ कदम ताल मिलने के लिए खुद को भी अपडेट रहने की जरुरत है। इसलिए खुद भी आज की टैक्नाॅलजी को जानें। इससे आप बच्चे के फेसबुक और जीटाॅक से खुद को जोड़ पाएंगे। इसके अलावा उनकी आॅनलाइन एक्टिविटी और फ्रेंड पर नजर रख पाएंगे।

                                                                                        featured image  

loader