क्या करें जब हो जुडवा बच्चे

जुडवा बच्चों को पालना आसान नहीं है। जैसे बच्चे दो होते है वैसे ही जिम्मेदारियां भी दोहरी हो जाती हैं। ऐसे बच्चों को देखने में बड़ा अच्छा लगता है मगर चुनौतियां बहुत होती है। हर चीज के लिए पहले से तैयारी करनी पड़ती है। टवीन को कैसे पाला जाए ताकि पेरेंटस को भी दिक्कत न हो और बच्चे आसानी से संभाले भी जा सकें। ये दस टिप्स आपको जरूर मदद करेगें अगर आपके पास भी जुडवा बच्चे हैं।

1- पेरेंटस से सीखें

ऐसे माता-पिता से बात करें जिनके जुडवा बच्चें हों। वो आपसे पहले इस दौर से गुजर चुके हैं उनको तजुर्बा है। उसका फायदा उठायें।

2-किताब का सहारा

आप किताब का सहारा ले सकते हैं। जब आपको पता चले कि आपका जुडवा बच्चे की मां या पिता बनने वाले हैं। तो ऐसी किताबें पढे़ जिससे आपको मदद मिले। आजकल मार्केट में ऐसे बुक मिल जाएगी जिससे आपको पता चलेगा कि जुडवा बच्चों को कैसे पाला जाए।

3-क्लब का हिस्सा बनें

कई सारे क्लब ऐसे हैं जिनमें जुडवा बच्चों और उनके जैसे पेरेंटस जुड़े हैं। ऐसे क्लब जुडवा बच्चे की परवरिश के अलावा प्रेगनेंसी में भी मदद करते हैं।

4-स्तनपान

बच्चे को दूध पिलाना तो पडे़गा ही मगर चिंता करने की जरूरत नहीं है। ये काम आपके लिए आसान होगा।

5-दोनों को बराबर वक्त दें

बच्चे को बराबर वक्त दें। जितना हो सके दोनों को अलग-अलग समय देने की कोशिश करें। बच्चे चाहते हैं कि उनका पूरा ध्यान पेरेंटस रखें।

6-सज़ा और प्यार बराबर

बच्चे को प्यार और सज़ा बराबर दें। इससे बच्चों को ऐसा नहीं लगेगा कि बच्चा किसी चीज में पीछे रह रहा है।

7- बराबरी नहीं करें

जुडवा बच्चों के अभिभावक होने के नाते ये बात हमेशा याद रखें कि कभी बच्चों की तुलना न करें। बच्चों की अलग क्षमताएं हैं और कमजोरियां भी।

8-दोनों की यादें सहेंजें

वैसे तो ये थोड़ा मुश्किल है। बच्चों की यादों और फोटो को अलग भी रखें। ऐसा करना आसान नहीं होगा मगर कोशिश जरूर करें। उनके सामान और खिलौनें का महत्व दें। ऐसा कतई न हो कि एक को महत्व मिले और दूसरा पीछे रह जाए।

9- खुद भी सोएं

ये तो मुश्किल होता है हर पेरेंटस के लिए कि वो बच्चे के बाद आसानी से सो सकें। दोनों बच्चों को साथ सुलाने की कोशिश करें। इससे आपके समय की बचत होगी और आप भी सो सकेंगी।

10- जुडवा बच्चों को पालने लुत्फ उठाएं

उनके काम करते वक्त ये न भूलें कि इसे आप इंज्वाय कर सकती हैं। इस अनोखे अनुभव में खुश रहने की कोशिश करें। इसका अपना अलग आनंद है तो उसका भी मज़ा लें। हर वक्त इस चिंता में न रहें कि कैसे मैनेज करना है।

loader