क्या आपके बच्चे भी बैक बैंचर हैं?

अक्सर क्लास में पीछे बैठने वाले स्टूडेंट को बैक बैंचर कहा जाता है। क्योंकि, ऐसे स्टूडेंट टीचर की नजरों से दूर बैठना पसंद करते हैं, और शायद इन्हीं कारणों से टीचर और पेरेंट्स उन बच्चों को कमजोर समझने लगते हैं। हालाँकि, यह पूरी तरह सच नहीं है कि पीछे बैठने वाले बच्चे हमेशा पढ़ाई में कमजोर होते हैं। बल्कि, कुछ स्टूडेंट पीछे बैठने के बाद भी क्लास के सेंटर ऑफ एट्रेक्शन बने रहते हैं। पीछे बैठने वाले छात्रों को एवरेज स्टूडेंट समझना गलत है। ये स्टूडेंट भले ही क्लास में पीछे बैठने वाले क्यों न हो लेकिन पढ़ाई में ये भी अच्छा स्कोर करते हैं।

लेकिन, इसके बावजूद भी पेरेंट्स को अपने बच्चों पर ध्यान देना बेहद जरूरी है, क्योंकि कुछ बच्चे पीछे बैठ कर इसका नाजायज़ फायदा उठाते हैं। वह पढ़ाई कम और शैतानियां ज्यादा करते हैं। ऐसे में पेरेंट्स को अपने बच्चों की हर गतिविधियों पर नजर बनाए रखने की जरूरत होती है, जिनमें निम्न शामिल हैं-

  • क्लास में सही समय पर जाना- क्लास में पीछे बैठने वाले स्टूडेंट अधिकतर क्लास में लेट ही पहुंचते हैं। ऐसे में एक पेरेंट्स होने के नाते टाइम टू टाइम टीचर से इस विषय में जानकारी लें कि आपका बच्चा सही समय पर स्कूल या क्लास में आता है या नहीं।
  • बच्चे की नोटबुक चेक करें- स्कूल से आने के बाद अपने बच्चे की नोटबुक जरूर चेक करें कि वह टीचर की बताई बातों को लिखा है या नहीं। क्योंकि, पीछे बैठने वाले स्टूडेंट अक्सर नोटबुक और पेन लाते नहीं हैं, अगर लाते भी हैं तो वह नोट नहीं करते हैं।  
  • बच्चों को मोबाइल न दें- पीछे बैठने वाले स्टूडेंट पीछे बैठने के कारण असानी से अपना मोबाइल यूज करते हैं। जिससे कि उनका ध्यान पढ़ाई में कम और दोस्तों से चैटिंग में ज्यादा होता है। ऐसे में अपने बच्चों को भूल कर भी मोबाइल न दें।    
  • एसाइनमेंट चेक करें- स्कूल में मिलने वाले एसाइनमेंट का बच्चे ध्यान नहीं रखते हैं, जिससे कि वह सही समय पर अपने एसाइनमेंट को पूरा नहीं कर पाते हैं। ऐसे में आप अपने बच्चों की एसाइनमेंट चेक करना न भूलें।

हालांकि, स्कूल को भी क्लास में पीछे बैठने वाले स्टूडेंट के लिए कदम उठाने चाहिए। इसके लिए ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है बल्कि हर वीक बच्चों की सीट चेंज करनी चाहिए, जिससे कि बैक बैंचर्स को भी आगे बैठाया जा सके।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader