कितना सुरक्षित है सीजेरियन आॅपरेशन के बाद मालिश करवाना ?

यह बिल्कुल सच है कि प्रसव के बाद माँ का शरीर काफी थक जाता है, जिसके कारण उन्हें मालिश की जरूरत होती है। क्योंकि, डिलीवरी की पूरी प्रक्रिया के दौरान आपके शरीर पर काफी जोर पड़ता है, खासकर पेट, पीठ के निचले हिस्से और कूल्हों पर। आमतौर पर, मालिश मांसपेशियों में रक्त और आॅक्सीजन के प्रवाह को बढ़ाता है, जिससे कि विषैले तत्व बाहर निकलते हैं, और आप काफी आराम महसूस करती हैं।

लेकिन, जो सबसे बड़ा सवाल है वह यह है कि क्या सीजेरियन आॅपरेशन के बाद मालिश करवाना सुरक्षित है, तो इसका सीधा सा उत्तर है हाँ। क्योंकि, जरूरी नहीं है कि बच्चे का जन्म सिर्फ नॉर्मल यानि की योनि के जरिए होता है, तभी मालिश की जरूरत पड़ती है। क्योंकि, कुछ लोगों का मानना होता है कि नार्मल प्रसव में माँ बहुत अधिक थकती हैं, लेकिन देखा जाए तो ऑपरेशन के बाद मालिश से खिंची हुई मांशपेशियों को आराम मिलता है।

हालाँकि, सिजेरियन के बाद जब भी आप मालिश करवा रही हो तो कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें, जैसे-

टांके वाली जगहों का ध्यान रखें

मालिश के दौरान इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें कि आप टांके वाली जगहों पर तेल की मालिश न करें। क्योंकि, इससे टांके के पास दर्द हो सकती है, और तो और आपको इन्फेक्शन भी हो सकता है।

डॉक्टर की सलाह लें

मालिश करवाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें, क्योंकि ज्यादातर डॉक्टर प्रसव के दो से तीन हफ्ते बाद ही मालिश की सलाह देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि, इन दिनों में घाव कुछ हद तक ठीक हो जाते हैं और उनमें संक्रमण का खतरा नहीं रहता है।

पैरों और हांथों की मालिश करवाएं

आप अपने पेट को छोड़कर आप हाँथ और पैरों की मालिश करवा सकती हैं। हालाँकि, आप चाहें तो बैठ कर पीठ की भी मालिश करवा सकती हैं।

हल्के हांथों से मालिश करवाएं

इस समय इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें कि आप अधिक जोर या दबाव डालकर मालिश न करवाएं, नहीं तो समस्या पैदा हो सकती हैं। और जो सबसे जरूरी बातें हैं वह यह है कि जब तक आपका अंदर से मन न हो मालिश कराने की तब तक मालिश न कराएं।

ऑपरेशन के बाद मालिश कराने से होने वाली परेशानियाँ

कुछ मामलों में इस दौरान कुछ समस्याएं हो सकती हैं, जैसे-

इंफेक्शन

मालिश के दौरान जो सबसे बड़ी समस्या होती है वह है संक्रमण की, क्योंकि टांके में चोट लगने के साथ-साथ उसमें संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। इसलिए इसकी साफ-सफाई भी बहुत जरूरी होती है ताकि संक्रमण से बचा जा सके।

सूजन या लालिमा

कभी-कभी मालिश के दौरान त्वचा में एलर्जी की समस्या हो सकती है, जैसे कि त्वचा का लाल या सूज जाना। इसके अलावा, यदि आपको तेल से एलर्जी है तो डॉक्टर की सलाह लें।

हालाँकि, देखा जाए तो सीजेरियन आॅपरेशन के बाद मालिश करने से आपको बहुत आराम मिलता है, और साथ ही आपको जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है। हालांकि, जब तक घाव पूरी तरह भर नहीं जाता, तब तक इस पर मालिश न कराएं। ठीक होने के बाद उस क्षेत्र पर हल्के हाथों से मालिश करने से रक्त आपूर्ति बढ़ती है और आंतरिक घाव ठीक होने में भी मदद मिलती है।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

loader