कैसे मनाएं बच्चों के साथ इको-फ्रेंडली दिवाली

Published On  October 18, 2016 By

बढ़ता प्रदुषण, जीवन के लिए घातक साबित हो रहा है। ऐसे में कोई भी ऐसा काम करना जिससे प्रदुषण में वृद्धि हो, हमारे लिए ही खतरा पैदा कर सकता है। यही वजह है कि पिछले 2 सालों से इको-फ्रेंडली दीवाली मानाने पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है।

अगर आपके घर में किड्स हैं तो आपके लिए उन्हें समझाना मुश्किल पड़ सकता है कि बिना पटाखों और अनार के कैसे दीवाली मनाएं। लेकिन हमारे पास उसके लिए भी कुछ खास टिप्स हैं, जिनसे आप आसानी से अपने बच्चों को समझा सकते हैं और उनके साथ इको-फ्रेंडली दीवाली एंजॉय कर सकते हैं। ये टिप्स कुछ इस प्रकार हैं:

दिए जलाएं – घर पर आर्टिफिशियल लाइट्स लगाने की जगह आप मिट्टी के दिए लेकर आएं और उन्हें बच्चों से कलर करवाएं। जब बच्चे इन्हें कलर करेगे तो उन्हें मज़ा आएगा और वो इन्हें ही पूजा के बाद जलाना पसंद करेंगे। कोशिश करें कि दीयों में सरसों का तेल ही इस्तेमाल किया जाएं, इससे निकलने वाला धुआँ नुकसान नहीं करता है और आसपास के कीट आधी भी मर जाते हैं।

नेचुरल कलर्स की रंगोली – मार्केट में नेचुरल कलर्स भी मिलते हैं जिनसे आप अच्छी सी रंगोली बना सकते हैं। लेकिन ये मंहगे होते हैं। इसलिए बेहतर होगा कि आप घर पर ही ऐसे रंग तैयार कर लें और उनसे ही रंगोली बनाएं। हल्दी, आटा, टेसू के फूल का रंग, गुलाल आदि का इस्तेमाल रंगोली बनाने में करें। बच्चों को इसमें जरूर शामिल करें, वो बहुत उत्साह से रंगोली बनायेगे।  

घर को सजाएँ – अपने घर को बच्चों के साथ मिलकर फूलों से सजा दें। आप बच्चों को जब इन कामों में व्यस्त रखेंगे तो उन्हें मजा भी आएगा और पटाखों की जिद्द भी नहीं करेगे।

होममेड स्वीट्स – घर पर बच्चों की पसंद की मिठाई जरूर बनायें और उन्हें अपने साथ बनाने दें। घर पर बनी मिठाई, स्वास्थ्य के हिसाब से सुरक्षित होती हैं।

इवेंट्स ऑर्गनाइज करें – अगर आप अपने होमटाउन से दूर हैं तो अपने इलाके के लोगों को आपस में इकठ्ठा करके एक दिवाली फंक्शन मनाएं। जिसमें कई सारे गेम्स और एक्टिविटी रखें। इसमें शामिल होकर बच्चों को बहुत मजा आएगा।  

गिफ्ट्स और कार्ड्स – आप अपने बच्चों को कार्ड्स बनाने को कहें और उन्हें अपने फ्रेंड्स को हैंडमेड गिफ्ट देने को कहें। ये काम करने में उन्हें बहुत मज़ा आएगा और वो इस पर्व को एंजॉय भी कर पाएंगे।  

मदद करें –  अपने घर में कहना बनायें, उसे पैक करें, पुराने कपडे पैक करें और उन्हें जरुरतमंदों को बाँट दें। इससे आपको भी फील गुड फैक्टर आएगा और उन्हें भी अच्छा लगेगा।

मॉर्डर्न मोना– मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

Topics