जन्म के समय बच्चे का वजन कितना होना चाहिए ?

यह बिल्कुल सच है कि आपके बच्चे का वजन आपके हेल्थ और उचित खान-पान पर निर्भर करता है। क्योंकि, अगर माँ स्वस्थ्य है तो बच्चा भी स्वस्थ्य होगा। हालाँकि, देखा जाए तो भारतीय शिशु का औसत वजन लगभग 2500 ग्राम (2.5 किलो) और 2900 ग्राम (2.9 किलो) के बीच होता है। खासकर जो बेबी अपनी पूरी अवधि, यानि कि नौ महीने पूरा करने के बाद पैदा होते हैं।

वहीं 2500 ग्राम (2.5 किलो) से कम वजन वाला शिशु कम जन्म वजन शिशु कहलाता है। चाहे वह गर्भावस्था के किसी भी चरण में क्यों न पैदा हुआ हो। ऐसे में, जो बच्चे कम वजन के होते हैं उन्हें उचित देखभाल की जरूरत होती है।

लंबाई पर निर्भर होता है वजन

आपके शिशु का वजन उसकी लम्बाई पर भी निर्भर करता है। क्योंकि, नवजात का वजन उसकी लम्बाई के अनुसार कम या ज्यादा हो सकता है। अगर किसी बच्चे में लम्बाई के अनुसार उसका वजन नहीं है तो उसमें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

जन्म के बाद वजन में अंतर

सामन्यतः हर बच्चे का वजन जन्म के चार से पांच दिन बाद कम होता है। ऐसा माना जाता है कि शिशु माँ के गर्भ में पानी की थैली से लिपटा होता है जिस कारण उसका वजन थोड़ा ज्यादा होता है। लेकिन, जैसे ही वह जन्म लेता है वैसे-वैसे उसका वजन इन दिनों कम होता है। लेकिन, दस दिनों के भीतर वह फिर से अपना नया वजन प्राप्त करने लगता है। शुरुआती तीन महिनों में शिशु का वजन लगभग 30 ग्राम प्रति दिन के हिसाब से बढ़ता है। ऐसे में, बच्चे का वजन पांच महीनों में दोगुना होने लगता है।

इन सब बातों के अलावा, जो सबसे महत्वपूर्ण है वह यह है कि यदि आप चाहती है कि आपके शिशु का भी वजन सही हो तो इसके लिए आप उचित आहार का सेवन करें। खासकर अपने आहार में कैल्शियम, आयरन और विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों को जरूर शामिल करें।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader