जब पेरेंट्स को लग जाये लत

mom preparing for the presentation - ZenParent

आज के समय  में हर कोई सोशल मिडिया से जुड़ा हुआ है। वैसे जुड़ना भी जरूरी है। अगर आप एक पेरेंट्स है और आप सोशल मीडिया पर जैसे टिवटर फेसबुक इंस्टाग्राम आदि से जुड़े हुए हैं। ये हर किसी के लिए अच्छी बात है। पर अगर पेरेंट्स बच्चों के देख – रेख में आप उनके सामने सोशल मीडिया पर अपना काफी समय व्यतीत करते हैं।अक्सर माता -पिता बच्चों के साथ बैठ कर उनके खेल में बिजी करके उनके सामने खुद को सोशल साइट पर चैट करते हैं। उनका ये  लगता हैं, कि उनका बच्चा तो खेल में व्यस्त है।  पर बच्चा तो खेल के साथ आपके गतिविधियों को देखता रहता है।  आपसे से कोई सवाल नहीं करता है।  पेरेंट्स को एक बार बच्चों के बारे में जरूर सोचना चाहिए  कि इसका कितना, क्या असर आपके बच्चे के ऊपर पड़ सकता है। इस बारे में पेरेंट्स नहीं सोचते है । क्या पता आपके बच्चे आपसे कुछ सवाल पूंछ सकते हैं। कि मम्मा आप हमेशा मोबाइल स्क्रीन को क्यों बार -बार देखती हैं। भले ही आपको सोशल मीडिया थ्रेड पर आपको कमेंट करने हो।  जो आपके लिए और लोगों की सुधार के लिए जरूरी क्यों न हो । बच्चे पेरेंट्स के सोशल मिडिया पर अपने आपको बिजी रखने पर और उनके फ्रेंड्स  से एक -दूसरे के रिप्लाई करते वक़्त उनके चहरे की ख़ुशी को देखते हैं। और चुप चाप अपने खेल में मस्त रहते हैं।तो ऐसे कुछ सुझाव हैं जिसे आप अपना सकते सोशल साइट से दूर करने में –

 

 

पेरेंट्स को जब एहसास होता है कि उन्होंने कितना अपना समय सोशल मीडिया पर दिया और कितना समय अपने बच्चे को ?शायद तब वो अपनी गलतियों को सुधारने का मौका ढूंढ़ते हैं। जिसके परेटंस बच्चों के साथ बाहार जा कर उनके साथ कुछ समय बिता कर उनको अच्छा फील करा सकते हैं।

 

बच्चे पेरेंट्स  से ही सीखते हैं कि लाइफ में क्या कितना इम्पोर्टेन्ट  हैं। अगर पेरेंट्स बच्चों के सामने ज़्यादा  समय अपना टिवटर या अन्य सोशल साइट पर व्यतीत करेंगे तो बच्चे भी आपको फॉलो करेंगे।

 

सोशल साइट से जुड़ने  पेरेंट्स को काफी हेल्प मिल जाती है।  जिसके लिए आपको समय निर्धारित कर देना होगा ताकि आपके बच्चों को भी आपसे बात-चीत करने का समय सके।

 

loader