इस दिवाली पटाख़े फोड़ते समय बरतें सावधानियाँ

दिवाली का पर्व खुशियों का पर्व होता है, क्योंकि इस त्यौहार को अच्छाई का प्रतिक माना जाता है। ऐसे में, एक अच्छे नागरिक होने के नाते हमलोगों का यह फ़र्ज़ बनता है कि इसे शांतिपूर्वक मनाएं। क्योंकि, जरा सी लापरवाही खतरनाक हो सकती है, इतना ही नहीं पटाखों की वजह से जलने के मामले सबसे अधिक इस समय देखने को मिलते हैं। ऐसे में, बेहतर यही है कि आप इस दिवाली पर पहले से ही प्लानिंग कर लें, कि इसे कैसे सेलिब्रेट करना है ताकि किसी को कोई नुकसान न हो।  

हालाँकि, निचे दिए गए बातों को ध्यान में रख कर इसे और भी खास बनाया जा सकता है, जो निम्न हैं-

इस दिवाली क्या करें-

  • सबसे पहले पटाखे उसी दुकानदार से खरीदें जिसके पास इसका लाइसेंस हो।

  • पटाखे जलाने से पहले उन पर लिखे दिशा-निर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लें।  

  • दिवाली से पहले पटाखों को बच्चों की पहुंच से दूर किसी सुरक्षित स्थान पर रखें।

  • पटाखों को सुरक्षित दूरी से ही जलाएं।

  • पटाखे जलाते समय पानी और आग बुझाने वाला यंत्र आसपास ही रखें।

  • फर्स्टेएड का डिब्बा भी पास में रखें।

  • यदि आपके बाल लंबे हैं तो उन्हें सही से बांधकर ही पटाखे जलाएं।

  • बच्चों को अपनी निगरानी में ही पटाखे जलाने को दें।

  • कानों को किसी प्रकार के खतरे से बचाने के लिए उनमें रूई डालकर रखें।

  • अपनी छत पर ऐसा सामान न रखें जो आसानी से आग पकड़ सकता हो।

  • पांव में चप्पल या जूते जरूर पहनकर रखें।

क्या न करें

  • पटाखों को हाथ में पकड़कर न जलाएं।

  • जलती हुई मोमबत्ती या दीये के पास पटाखों को न रखें।

  • बिजली के खंभे और तारों के पास पटाखे न जलाएं।

  • अधजले पटाखों को यूं ही न फेंके इनसे आग लगने की संभावना होती है।

  • सिल्क या सिं‍थेटिक के कपड़े न पहनें ये आसानी से आग पकड़ लेते हैं।

  • पटाखे जलाने के लिए माचिस या लाइटर की जगह लंबी मोमबत्ती का इस्तेमाल कर सकते हैं।

loader