बच्चे को ऐसे दें इंडोर गेम्स का मज़ा 

 

माता -पिता के लिए ये बहुत तकलीफ वाली बात होती हैं। जब उनके लाडले या लाड़ली को एक खरोंच आती हैं। ऐसे में अगर बच्चे को ज़्यादा चोट आ जाये और उनको डॉक्टर बेड रेस्ट कह दें। तब आप अपने बच्चे के लिए फिजिकल एक्टिविटी के लिए बाहर गेम खेलने के लिए नहीं भेज पाते हैं। क्योंकि डॉक्टर के सलाह  के अनुसार आपको बच्चे की केयर करनी होती है।कब तक उनको घर से बाहर न जाने दिया जाये। ऐसे बच्चे घर में रह कर ऊबने लगते हैं। जिसके लिए पेरेंट्स को बच्चों को कुछ ऐसे इंडोर गेम दें सकते हैं। जिसे बच्चे आराम से खेलेंगे भी और घर में रह कर अपने आप को बोरिंग भी नहीं महसूस करेंगे। साथ ही साथ उनके चोट को भी रिकवर हो जायेगा -पेश है कुछ इंडोर गेम जिसे आप अपने किड्स को खेलने को दे सकती/सकते हैं –

 

1 -लूडो खेलना :-पेरेंट्स बच्चे को अगर पैर में चोट है और उसे कहीं उठ कर नही जा सकता है ऐसे में बच्चे बेड पर लेट -लेट ऊब जाते हैं। बच्चे तो हमेशा चहल -पहल और खेल- कूद करते रहते हैं। अगर ऐसे में उनको एक लम्बा बेड- रेस्ट बोल दिया जाये। ये बात उनको कुछ हज़म नहीं होती है। पेरेंट्स बच्चे के साथ लूडो खेल का आनंद ले सकते हैं क्योंकि इस गेम में कोई भाग -दौड़ नहीं होती है। इसे आप बिस्तर पर बैठ कर सोफे पर बैठ कर आराम से खेल सकते हैं और अच्छा भी महसूस कर सकते हैं।

2 -कैरम खेलना :-बच्चे को चोट आई है और बाहर नहीं जा सकता कोई खेल खेलने। माता -पिता बच्चे के साथ में कैरम खेल कर बच्चे का मन बहला सकते हैं। क्योंकि कैरम गेम ऐसा गेम है जिसे आपको बाहर फील्ड में जाकर नहीं खेलना होता है। इस गेम को इंडोर में शामिल करके आप बच्चे का अच्छा समय बिता सकते हैं।

Untitled design (9)

3 -पेपर फोर्ड :-बच्चे को चोट लगने पर इंडोर गेम में आप पेरेंट्स पेपर फोर्ड गेम खेलने को दे सकते हैं। ताकि आपका बच्चा एक्टिव रह सके। जिसके लिए पेरेंट्स बच्चे को कुछ पेज न्यूज़ पेपर के दे दें। बच्चे इस पेपर को रोल बना कर एक ऊँची इमारत या किला नुमां दिमाग जो डिज़ाइन हो उसका आकर दे कर बना सकते हैं आराम से और खुद को बोरड भी समझेंगे घर में रह कर।

 

4 -चेस खेलना :- पेरेंट्स बच्चे को चोट लगने पर इंडोर गेम्स में चेस खेलने को दें सकते हैं। ऐसे में एक तो बच्चा बाहर जाने की ज़िद भी नहीं करेगा।पेरेंट्स बच्चे के सोफे पर बैठ कर चेस गेम आराम से खेल सकते हैं ,और बच्चा खुद को भी इन गेम्स का खुश हो कर खेलेगा। चेस गेम ऐसा गेम इसे आप कहीं भी रख कर खेल सकते हैं। चाहे वो बेड हो सोफे आदि।

Untitled design (72)

 

5 -पेंसिल पेंटिंग :-बच्चे को चोट लगने पर उनको एक्टिव रखने के  लिए माँ -बाप बच्चों को पेंसिल -पेंटिंग गेम दें सकते हैं। इससे आप बच्चे के दिमाग को तेज़ करने में आसानी से मदद कर सकते हैं, और बच्चे को हर रंग की पहचान भी करा सकते हैं।बच्चों को  रंगों के साथ खेलना भी बहुत अच्छा लगता है।जिसे वो बड़े खुशी से पेंसिल-पेंटिंग को एन्जॉय करेंगे।

 

loader