इन 5 तरीकों से सिखाएं अपने बच्चे को सफाई के गुर

अनमोल इसे मत छूना, वरना पीट जाओगे सुबह-सुबह मेरी दीदी की आवाज मेरी कानों में सुनाई दी। जब मैंने जाकर देखा कि दीदी इस समय किस पर गुस्सा कर रही है, तब मैंने देखा कि वह अनमोल को डांट लगा रही थी। अनमोल मेरी दीदी का बेटा है, जो उम्र में 4 साल बड़ा है। यह इतना शरारती है कि पूछो मत। उसकी मॉमी उसे जिस चीज़ को छूने से मना करती है वह उस चीज़ को जरूर टच करता है। लेकिन, उसकी मॉमी भी कम स्मार्ट नहीं है वह उसे बहुत ही अच्छे तरीके से डिसिप्लीन के गुर सीखा रही हैं। क्योंकि, इनका मानना है कि बच्चे वही सीखते हैं जो आप उसे सिखाती हैं।

हालाँकि, इनका कहना है कि कुछ चीजों को ध्यान में रख कर आप अपने बच्चों को साफ-सफाई के बारे में अच्छे से बता सकती हैं। ऐसा जरूरी नहीं है कि उन्हें हर बात के लिए डांटा जाए, बल्कि निचे दिए गए कुछ टिप्स को फॉलो कर आप अपने बच्चे को सफाई की पाठ पढ़ा सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

पॉटी ट्रेनिंग

8548813359721529375-account_id=2

अनमोल के मॉमी का मानना है कि बच्चों के लिए जो सबसे जरूरी चीजें हैं, वह है पॉटी ट्रेनिंग। जिसे 2 से 3 साल के उम्र में अपने बच्चों को दी जानी चाहिए, क्योंकि बच्चे सबसे ज्यादा गलतियां यहीं करते हैं। खासकर,  टॉयलेट सीट के अंदर हाथ डालना और टिश्यू पेपर को मुंह में लेना आदि जैसी कई चीजें हैं जिसे बच्चे इस दौरान करते हैं।

ब्रश की आदतें

39009a_1427369348

पॉटी के बाद जो सबसे जरूरी है, वह है बच्चों में ब्रश की आदतें डालना। क्योंकि, बच्चे जब छोटे होतें हैं तो वह बिना मुंह धुले ही खाना शुरू कर देते हैं। जो कि हेल्थ के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है। ऐसे में इन्होंने बताया कि अनमोल उन बच्चों में से एक था जो दिन में एक बार नहीं बल्कि 3 से 4 बार ब्रश करता था, जिससे कि वह परेशान हो गयी थी। ऐसा वह इसलिए करता था क्योंकि उसे टूथपेस्ट का स्वाद बहुत अच्छा लगता था, और घर के अलग-अलग लोगों के साथ वह ब्रश करने बैठ जाता था। लेकिन, इसकी मम्मी ने इसे ब्रश करने के टाइमिंग और इसके तरीके दोनों के बारे में बताया कि ज्यादा ब्रश करने से आपके सारे दांत निकल जायेंगे। एक गुड बॉय को दिन में 2 बार ब्रश करनी चाहिए।

खाने के तौर तरीके

7555630548215761718-account_id=2

इनका कहना है कि खाने के मामले में अनमोल बहुत अच्छा बच्चा है, क्योंकि चार साल के उम्र में ही इसे डाइनिंग टेबल के रूल्स पता हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि इन्होंने बचपन से ही सबके साथ इसे खाना खिलाने बिठाती थीं। इतनी छोटी सी उम्र में यह काटे-चम्मच से खाने की कोशिश करता है।

जुकाम होने पर नाकों को साफ रखना

इन्होंने कहा कि अपने बच्चों को इन सबके अलावा भी कुछ ऐसी चीजें हैं जिसे बताना बहुत जरूरी है। जैसे कि जुकाम आने पर बच्चे अपने नोजी को इधर-उधर साफ करते हैं, ऐसे में आप अपने बच्चे को एक रुमाल दें जिससे कि वह अपने नोजी को उसी में साफ कर सकें।

हाथों को साफ रखना

5023145776069118741-account_id=2

इनकी मॉमी का कहना है कि इन्होंने इसे खाने से पहले हाथों को हैंडवाश से कैसे साफ रखना है इसके बारे में बताया है। क्योंकि, बच्चे हमेशा कुछ न कुछ चीजों को छूते हैं और अपने हाथों को मुंह में डालते हैं जिससे कि इंफेक्शन होने का खतरा रहता है।

हालाँकि, अनमोल के मॉमी ने यह भी कहा कि यदि अपने बच्चे को सफाई के तौर-तरीके सिखाने हैं तो उससे पहले उन नियमों को खुद भी फॉलो करें। क्योंकि, बच्चे वही सीखते हैं जो वह अपने बड़ों को करते देखते हैं।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader