इन 5 एक्सरसाइज के जरिए अपने पेट पर जमे फैट को कम करें

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने सेहत की तरफ ध्यान नहीं देते हैं, जिसके कारण शरीर में मोटापा घर कर जाता है। यह मोटापा शरीर के अलग-अलग भागों के साथ पेट के आस-पास भी अपनी जगह बना लेता है। हालांकि, पेट के आसपास फैट जमा होना आजकल एक बहुत बड़ी समस्या बनते जा रही है। ऐसे में आप इस फैट को एक तरीके से आसानी से कम कर सकते हैं और वह है रेगुलर एक्सरसाइज और हेल्दी डाइट। जी हाँ, आप कुछ व्यायाम के जरिए अपने पेट पर जमे  फैट को कम कर सकते हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

 

  1. कोबरा मुद्रा (भुजंग आसन)

shutterstock_307030703-e1459459510779

यह आसन पेट की चर्बी को कम करने के लिए बेहद कारगर माना जाता है। इतना ही नहीं इस एक्सरसाइज के जरिये आपके बाजुओं, कमर और पेट की मांसपेशियों को भी मजबूती मिलती है और शरीर लचीला बनता है। हालाँकि, इस एक्सरसाइज को करने का तरीका निचे बताया जा रहा है-

 

  • पहले पेट के बल सीधा लेट जाएं और दोनों हाथों को माथे के नीचे टिकाएं।

  • दोनों पैरों के पंजों को साथ रखें।

  • अब माथे को सामने की ओर उठाएं और दोनों बाजुओं को कंधों के समानांतर रखें जिससे शरीर का भार बाजुओं पर पड़े।

  • अब शरीर के आगे के भाग को बाजुओं के सहारे उठाएं।

  • शरीर को स्ट्रेच करें और लंबी सांस लें।

  • 15-30 सेकंड के लिए इस मुद्रा में रहें, हालाँकि यह आपके स्ट्रेंथ पर निर्भर करता है।

 

नोट- यदि आप प्रेगनेंट हैं, या आपको अल्सर, हर्निया या पीठ में चोट लगी हो, तो इस एक्सरसाइज का प्रयोग न करें।

 

2. धनुष मुद्रा (धनुरासन)

unnamed (1)

धनुरासन पेट की चर्बी को तेजी से घटाने में मदद करता है। इसके अलावा, इससे सभी आंतरिक अंगों, मांसपेशियों और जोड़ों का व्यायाम होता है। साथ ही इस एक्सरसाइज को करने से डाइजेस्टिव सिस्टम और कब्ज सही रहता है।

 

धनुरासन करने का तरीका

 

  • सबसे पहले पेट के बल लेट जाएँ

  • अब टाँगों को घुटनों से मोड़ें फिर दोनों हाथों से पैरों को टखनों के पास से पकड़ें।

  • हाथों और पैरों को खींचते हुए घुटने भी ऊपर उठाएँ, और जितना हो सके उतना सिर पीछे की ओर ले जाएँ।

  • यह आसन आप अपने क्षमतानुसार 10 से 20 सेकंड तक करें।

 

नोट-  जिन लोगों को रीढ़ की हड्डी या डिस्क की तकलीफ, उच्च रक्तचाप, ऑपरेशन या पेट संबंधी कोई गंभीर रोग हो तो यह एक्सरसाइज न करें।

 

3. पोंटून मुद्रा (नौकासन)

 

Naukasana

 

इस एक्सरसाइज को करने से आप का पेट और कमर का हिस्सा मजबूत बनता है। इसके अलावा, यह शरीर से अतिरिक्त चर्बी को कम कर मोटापा को कम करने में सहायक होता है।

 

नौकासन करने का तरीका

 

  • नौकासन की शुरुवात करने के लिए सबसे पहले शवासन की मुद्रा में लेट जाएँ।

  • इसके बाद अपनी एड़ी और पंजे को मिलाएं और अपने दोनों हाथों को कमर से सटा कर रखें।

  • इस वक्त आपको हथेलियाँ जमीन पर तथा गर्दन को सीधा रखना है।

  • अब अपने दोनों पैर, गर्दन और हाथों को धीरे-धीरे एक साथ उपर की ओर उठायें।

  • इस मुद्रा में 15-20 तक रुके।

  • अब धीरे-धीरे वापस पहले की अवस्था में लेट जाएँ।

  • इस एक्सरसाइज का अभ्यास आप चार से पांच बार कर सकते है|

 

नोट- यदि किसी व्यक्ति को हृदय सम्बन्धी विकार या पेट में किसी तरह की परेशानी हो तब नौकासन का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

 

3. बोर्ड ( कुंभकासन)

 

Board-Pose-Kumbhakasana

 

यह आसन करने में भले ही आसान हो पर इसे योग के सबसे असरदार आसनों में से एक माना जाता है। ये आपकी बांहों, कन्धों, पीठ, जांघों को मज़बूत करता है। और शरीर में मज़बूत एब्स के लिए यह आसन बेहतरीन है।  

 

कुंभकासन करने का तरीका

 

  • सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं।

  • अब अपनी हथेलियों को अपने चेहरे के आगे रखें और पैरों को इस तरह मोड़ें कि पंजे जमीन को धकेल रहा हो।

  • इसके बाद हाथ को आगे की तरफ पुश करें।

  • आपके पैर ज़मीन से यथासंभव सटे होने चाहिए और गर्दन ढीली होनी चाहिए।

  • सांस अन्दर लें और अपने धड़ को इस तरह नीचे ले जाएं।

  • इस मुद्रा में तब तक सहज हों तब तक रहें।

 

नोट- अगर आपकी पीठ या कन्धों में चोट लगी हो या आप उच्च रक्तचाप के शिकार हों तो यह आसन न करें।  

 

4. विंड ईज़िंग पोस्चर (पवनमुक्तासन)

Wind-Easing-Posture-Pavanamuktasana

पवनमुक्तासन योग क्रिया के द्वारा शरीर से दूषित वायु को बाहर किया जाता है। इस एक्सरसाइज को करने से पेट और कमर की चर्बी कम होती है।

पवनमुक्तासन करने का तरीका

 

  • सबसे पहले पीठ के बल लेट जायें।

  • अब अपने दोनों पैरों को मिलाकर रखें तथा अपने हाथों को शरीर के साथ सटाकर रखें एवं हथेलियों का  रुख ज़मीन की ओर रखें|

  • अबसे पहले अपने दाएँ पैर को घुटनों से मोड़ें और दायीं जाँघ को छाती की तरफ लेकर आएँ। दोनों हाथों की अंगुलियों को आपस में मिलाते हुए घुटने से थोड़ा नीचे से पकड़ लें।

  • अब गहरी साँस भरें और साँस को छोड़ते हुए पैर को छाती की ओर लेकर आएँ, थोड़ा दबाव देकर रखें।

  • अपने बाएँ पैर को सीधा एवं तानकर रखें, दोनों पैरों की अंगुलियों को भी बाहर की ओर खींचकर रखें।

  • इस स्तिथि में लगभग चार- पाँच सेकंड तक रहे, फिर धीरे-धीरे ज़मीन पर लेकर पहले की दशा में वापस आ जाएँ।

 

नोट- जिन भी लोगो को कमर दर्द की शिकायत है, उन्हें यह आसान करने से बचना चाहिए।

 

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

 

loader