इन 4 तरीकों से जरूर सिखाएं अपने बच्चों में पैसों की बचत करना

इसमें कोई शक नहीं है कि बच्चे की पहली पाठशाला उनका घर होता है जहाँ वह अच्छी और बुरी दोनों ही आदतों को सीखते हैं। लेकिन, यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने बच्चे को किस दिशा में लेकर जा रहे हैं। क्योंकि, बच्चे की शुरुआती शिक्षा आपके ऊपर निर्भर करती है कि आप उन्हें क्या सिखाती हैं। क्योंकि, जब आप अपने बच्चे को स्कूल भेजती हैं तब यह जरूरी नहीं है कि वहां उन्हें सारी बातें सिखाई जाती हों खासकर मनी सेविंग के बारे में। ऐसे में, आज हम आपको कुछ ऐसे मनी लेशन के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने बच्चों में इसकी जानकारी दे सकती हैं, जो निचे बताए जा रहे हैं-

उन्हें खुद से पैसे कमाने में मदद करें 

अपने बच्चों को दिमाग में सबसे पहले पैसे की महत्व और उसके वैल्यू को बिठाएं। कि यह काफी मुश्किलों के बाद मिलता है इसलिए इसका उपयोग बहुत ही सोच-समझ कर किया जाना चाहिए। इसके अलावा, आप उनसे घर के छोटे-मोटे कामों को करने के लिए कहें और उसके बदले उन्हें उनकी सैलेरी दें। इससे उन्हें पैसे की अहमियत समझ में आएगी। इसके अलावा, उन्हें पैसा कमाने के प्रयासों को समझाने में मदद करें। क्योंकि, यह आपके बच्चों में एक हेल्दी वर्क एथिक्स विकसित करने का एक अच्छा तरीका है। 

बचत करना सिखाएं 

बच्चों में बचत का पाठ पढ़ाना थोड़ा मुश्किल है, क्योंकि उन्हें इन चीज़ों की समझ नहीं होती है। क्योंकि, बच्चों को इस उम्र में रंग-बिरंगे खिलौने और गाड़ियां काफी पसंद आती हैं। लेकिन, इन सब के बावजूद भी आप उन्हें एक गुलक खरीद कर दें और उसमें कुछ पैसे डालने के लिए कहें। क्योंकि, इससे बच्चों में बचत करने की आदत बनेगी।

उन्हें ज़िद्दी न बनायें 

अक्सर आपने देखा होगा कि कुछ पेरेंट्स अपने बच्चे की हर ज़िद को पूरा करते हैं, जैसे कि उन्हें कोई खिलौने पसंद आ जाते हैं तब उन्हें झट से खरीद कर दे देते हैं। लेकिन, पेरेंट्स को बच्चों की जरूरत की चीजें खरीदने के लिए उनकी मदद करनी चाहिए लेकिन उनकी पसंद की हर वस्तु को खरीद कर देने से बचना चाहिए। इससे उन्हें पैसे की असली अहमियत का पता चलेगा। 

अपने बजट में शामिल करें 

अपने बच्चे को मिनी शॉपिंग के लिए एक डमी बजट बनाने में शामिल करें। साथ ही उन्हें इसकी पूरी प्रक्रिया के बारे में समझाएं कि कितना खर्च किया जा सकता है और कितना बचाया जा सकता है। इसके अलावा, ग्रोसरी या कुछ और सामान खरीदते हुए बच्चों को साथ ले जाएं और उन्हें भी चुनाव में मदद करने के लिए प्रोत्साहित करें। इससे उनमें बचत करने की आदत बनेगी। 

ऐसे में, यदि आप शुरुआत से बच्चों में पैसे की बचत की आदत डालेंगे तब वह आगे चलकर पैसे की अहमियत के बारे में समझेंगे। 

In Colloboration with ArthaYantra

loader