कैसे करें एक “हैप्पी बच्चे” की परवरिश? खुश आचरण रखने के 4 तरीके

Published On  April 24, 2015 By

अब आपका बच्चा भी रहेगा हमेशा “हैप्पी”…

हैप्पी बच्चे- परेंटिंग रीसॉर्सिज़ बाइ ज़ेनपेरेंट

हर माता-पिता को अपने बच्चों से बस यही उम्मीद होती है कि वे सदैव खुश रहें| उनकी खुशी ही माँ-बाप के लिए सब कुछ होता  है| परंतु अपने बच्चों की परवरिश में हमें सबसे ज़्यादा इस बात की परेशानी होती है की कैसे हमारे बच्चे दुनिया में अपनी एक पहचान बनाएँ, तरक्की करें और सबसे आगे रहें|

और अंजाने में हम ये भूल जाते हैं की इतना प्रेशर बच्चों पर कई बार बुरा प्रभाव डाल, उन्हें दुखी और चिड़चढ़ा बना सकता है| वैज्ञानिक और मनोवैज्ञानिक खोज भी यही दिखाती है की खुश मन के बच्चे जीवन में ज़्यादा तरक्की कर पाते हैं| इसलिए अपने बच्चों का आचरण खुश मिजाज़ का रख कर, आप आपने बच्चों को जीवन में हर मोड़ पर कामयाबी दिलाने में मदद कर सकते हैं|

इन कुछ बातों का ध्यान रख, हम अपने बच्चों का खुश मिजाज़ कायम रख सकते हैं|

स्वयं प्रसन्न भाव रखें

अक्सर हम बढ़े अपनी परेशानियों के कारण अपने बच्चों पर भी बिना सोचे-समझे गुस्सा निकाल देते हैं| या ना चाहकर भी उनको अपना बुरा मूड व्यक्त कर बैठते हैं|और छोटे बच्चों पर ऐसे भावों का बुरा असर पढ़ सकता है, जिसके कारण उनका मन हर समय दुखी और बेचैन होने लग जाता है| इसी वजह से बच्चे दुखी व्यवहार के हो जाते हैं| तो इस बात का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है की परेशानियों को दूर रख, अपने बच्चों से अच्छे मूड में बात करें| क्या पता? आपका भी मन अपने बच्चों के साथ रहकर शांत हो जाए…

motivate

पैदा हुए मन-मुटाव सुलझायें

यदि आपका बच्चा किसी बात या इंसान के प्रति बुरा भाव प्रकट कर रहा है तो उसे टाले नहीं बल्कि उस बात का समाधान निकालें| क्योंकि आगे  चल कर बच्चे के मन में कोई बुरी याद रहने पर उसका आचरण बुरा बना सकता है| उसके किसी बात के बुरा मानने पर, उस बात को सुलझाकर, उसको अच्छे से संभालना सिखाएं| इससे आपका बच्चा भी बढ़ा होकर शांति से बातों को बिना बिगाड़े ठीक करने की कोशिश करेगा और  मुश्क़िलों का सामना अच्छे तरीके से करेगा|

Help children develop people's skills- Parenting resources by ZenParent

सांत्वना बनाएँ रखें

किसी बात या उम्मीद का पूरा ना होने पर अपने बच्चे पर अपना गुस्सा या दुख ज़ाहिर करने के बजाए, उसको सांत्वना दें| ग़लतियाँ होने पर भी इंसान कोई सीख लेता है- यही बात अपने बच्चे को सीखाकर, आप अपने बच्चों को खुशहाल रख सकते हैं| क्योंकि किसी असफलता पर आपका बच्चा हार ना मान कर, दुबारा कोशिश कर, विजय प्राप्त करने की कोशिश करेगा और किसी बात का पूरा ना होने पर भी निराश होकर बैठेगा नही|

positive

आशावादी होना ही जीवन का असली मतलब है

अपने बच्चे को कभी हार ना मानने वाला आचरण रखने के लिए समझायें और उसकी किसी बात पर की गयी शिकायत को शांतिपूर्वक सुनें| सांत्वना देते होये अपने बच्चे को उसकी परेशानी का समाधान निकालने में संयोग दें| उसको ऐसा आश्वासन देने पर कि वह अकेला नही है और आप उसके साथ हैं; आपका बच्चा शांत मन के साथ रहेगा और उसका चित्त भी खुश रहेगा|

be happy parents- Parenting resources by ZenParent

ज़्यादा से ज़्यादा समय आपस में व्यतीत करने पर आप अपने बच्चे को खुश रखने में कामयाब हो सकते हैं| और ऐसा कर, आपका बच्चा भी आपके और करीब आएगा और अपना हर दुख-सुख फोलकर, अपने बुरे भावों को हल्का कर पाएगा|