बेहद खास होती हैं बेटियाँ, ना करें ऐसी गलतियां

कुछ पेरेंट्स अपनी बेटियों को अपनी सबसे बड़ी खुशी मानते हैं। और माने भी क्यों ना क्योंकि बेटी आपकी सबसे बड़ी पूंजी होती है। वह सुंदर और मासूम होती है। इतना ही नहीं वो लड़कों की तुलना में पहले परिपक्व हो जाती हैं। एक पेरेंट्स होने के नाते अपनी बेटी को समय दें, उसकी बात सुनें, उसकी भावनाओं और जरूरतों को समझें। यहाँ पर कुछ ऐसी चीज़ें बताई जा रही है जो आप अपनी बेटी से भूल कर भी न कहें।

ये 7 बातें भूल कर भी ना कहें अपनी लाड़ली से-

1. टॉम ब्यॉय वाली ड्रेस न पहनें- कभी-कभी कुछ माता-पिता अपने बच्चों में लिंग के आधार पर भेदभाव करते है। और यह आमतौर पर कपड़ों के साथ शुरू होता है। यदि आपकी बेटी जींस-टीशर्ट  में घूमना पसंद करती है तो घूमने दें। लड़कियों वाले कपड़े पहनने के लिए मजबूर ना करें। उसे अपने पसंद के कपड़े पहनने दें।

girl 1

2. तुम नफरत के लायक हो- अपनी बेटियों को ये शब्द बिल्कुल ना कहें। भले ही आप गुस्से में बोल रहें हों लेकिन इसका असर आपकी बेटी पर गलत पड़ सकता है। कहीं उसके मन में ये बातें घर ना कर जाये, की मैं एक बेटी हूँ और ऐसा मुझे बेटी होने की वजह से बोला गया है। इसलिए बोलने से पहले जरूर सोाच लें।

3. इतना मत खाओ वरना मोटी हो जाओगी- पश्चिमी सभ्यता के लोगों में अपने छवि को लेकर एक अलग तरह का ख्याल होता है, की कैसे अपने शरीर को सुंदर और सुडौल बनाया जाये। इसके लिए वो तमाम तरह की चीज़ों को अपनाते है। ऐसे में अपने बच्चों को समझते समय इस तरह की भद्दी टिप्पणी कतई ना करें। बढ़ते बच्चों के लिए एक स्वस्थ भोजन और पोषण की आवश्यकता होती है। यदि आप अपने बच्चे के वजन के बारे में वास्तव में चिंतित हैं तो उसे स्वस्थ भोजन के साथ-साथ शारीरिक गतिविधियों की सलाह दें।

girl 3

3. मैं डाइट पर हूँ- बच्चों के सामने अपने भोजन योजना पर चर्चा न करें। वरना बच्चे भी अपनी आदतों में डाइट जैसी गन्दी चीज़ों को शामिल करेंगे। उनके सामने व्यायाम, फिट और मजबूत होने के बारे में बात करें।

4. तुम्हें शर्म आनी चाहिये-  इस प्रकार की कोई भी बात अपनी बेटी से ना कहें  क्योंकि ये बहुत गलत है। हलाँकि बच्चे शरारती होते हैं और लोगों को बेपरवाह अन्दाज़ में परेशान करते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप उन्हें इस प्रकार की फटकार लगायें। अपने बच्चे को बुरे और भले की समझ कराने के और भी सौम्य और बेहतर तरीके हैं।

girl 2

5. ये काम सिर्फ लड़के ही कर सकते हैं- आज के समय में लड़कियां लड़कों से कदम से कदम मिलाकर चल रही है। किसी भी मामले में लड़कों से पीछे नहीं है। चाहे वो पढ़ाई, संगीत, डांस ,खेल -कूद  या और भी कोई क्षेत्र क्यों न हो।  उदाहरण के तौर पर साइना नेहवाल जो ओलंपिक बैडमिंटन में पदक जीतने वाली एकमात्र भारतीय रही हैं।

6. यह ड्रेस / रंग  आप पर अच्छी नहीं लग रही- बच्चे अपने माता-पिता की राय के बारे में परवाह करते हैं, वो जो भी पहने उसमें उनके पेरेंट्स के हाँ की बहुत जरूरत होती है। ऐसे में आपको हमेशा इस बात का ध्यान रखना होगा की आपकी बेटी जो भी ड्रेस पहने उसे बताएं की वो बहुत खूबसूरत लग रही हैं।

ऐसे में ये सारी गलती भूल कर भी नहीं करें क्योंकि बेटी का होना बहुत सुखदाई होता है। हमारी जिंदगी में बेटी का होना  बहुत ही खास  है। जरूरत है उसकी भावनाओं और जरूरतों को समझने की ना की खरी-खोटी सुनाने की।

loader