ऑनलाइन ट्यूशन- शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन विकल्प…

ऑनलाइन ट्यूशन में वेदान्तू है सबसे ऊपर- पेरेंटिंग रीसोर्सिज़ बाइ ज़ेनपेरेंट

आज के समय में जहाँ हर तरह की व्यवस्था ऑनलाइन हो चुकी है , फिर चाहे आपको कोई सामान खरीदना हो ,या फिर खाना या दवा मँगाना हो या फिर कुछ और| हाल ही में, इन सब के बीच, ऑनलाइन ट्यूशन ने भी जगह बना ली है| दूरसंचार और ऑनलाइन व्यापार की तरह, ऑनलाइन ट्यूशन के भी बहुत फायदे हैं , जैसे,  बिना दौड़-भाग किये , समय बचाते हुए, बिना थके, घर बैठे, अच्छी शिक्षा ग्रहण करना|
ट्यूशन पढ़ने  का यह तरीका पारम्परिक तरीके से काफी बेहतर हैं| पारम्परिक तरीके में बच्चों के समूह को एक टीचर पढ़ाते हैं, या एक बच्चे को एक टीचर पढ़ाते हैं| अगर बच्चा समूह में  है तो टीचर उस पर ध्यान नहीं दे पाता , और अकेले पढ़ने में बच्चे का मन अक्सर भटक जाता है| ऑनलाइन ट्यूशन के कुछ ऐसे फायदे होते हैं जिनको हम नज़रन्दाज़ नहीं कर सकते| आइए जाने, वो क्या हैं –

1) आसानी से इसकी उपलब्ध्ता 

आज हर माँ-बाप अपने बच्चे को सबसे अच्छी शिक्षा देना चाहता हैं , फिर वो चाहे स्कूल हो या ट्यूशन| पर उसके पास सबसे बड़ी समस्या होती है कि, अच्छा टीचर कहाँ मिले ? अगर मिल गया तो हो सकता है वो बहुत दूर रहता हो| फिर उसके समय के हिसाब से बच्चे के समय को तय करना भी कठिन हो जाता है| इन सब में बच्चा इतना थक जाता है कि उसके लिए पढ़ाई पर ध्यान दे पाना मुश्किल हो जाता हैं| इन सब समस्या का समाधान आप को ऑनलाइन ट्यूशन के द्वारा उपलब्ध हैं , जहाँ बच्चा अपने समय के हिसाब से बिना भागदौड़ के पूरे मन से पढ़ सकता है|

 2) शिक्षक चुनने की आज़ादी

स्कूल खुलते ही हर पेरेंट के लिए चिंता का समय शुरू हो जाता है, ” कहाँ मिलेगा अच्छा टीचर ?” बस फिर क्या, अच्छे टीचर को इधर-उधर तलाशना, इनसे-उनसे पूछना- बस ये ही, मानो, माँ-बाप का काम हो जाता है| अच्छी किस्मत से अगर कोई मिला तो बस कुछ सबजेक्ट  पढ़ाने  वाला या फिर उसके अलग-अलग नख़रे| वही  ऑनलाइन ट्यूशन पर आप को आज़ादी है कि आप शिक्षक अपने मन से चुन सकें, अपने बजट में और सबसे बड़ी बात अपने समय अनुसार|

 3 ) शिक्षक की योग्यता

पारम्परिक तरीके के ट्यूशन टीचर क्या हमेशा सबसे अच्छे होते हैं ? या ये कहा जाए कि क्या आप उस टीचर को चुनने से संतुष्ट होते हैं ? अगर नहीं तो आप के पास इसको बदलने का कोई उपाय है ? जवाब होगा “ना “| और अगर कल को आपका बच्चा आ कर आप से ये बोल दे कि टीचर का पढ़ाया समझ नहीं आता, तो आप क्या करेंगें? दोषी बच्चे को ही माना जाता है, कि पढ़ने में उसका मन नहीं है| पर ज़रा सोचिए, क्या हर बार बच्चा ही गलत होता है? आप भले ना मानें पर गलती आप के चुनाव की भी हो सकती है| अगर आप को लगे कि इस गलती को आप को सुधारना है तो आप ऑनलाइन ट्यूशन का सहारा लें सकते हैं , जहाँ  आपको टीचर को उसकी काबिलियत के हिसाब से चुनने और बदलने की छूट होती है|

क्यूँ वेदान्तू है ऑनलाइन ट्यूशन में सबसे बेहतर- पेरेंटिंग रीसोर्सिज़ बाइ ज़ेनपेरेंट

इमेज सोर्स

 4 ) बच्चे कि मानसिक संतुष्टि

ज़रा सोचिए , आप पूरे दिन काम कर के लौटे और आप से बोला जाये कि एक – दो घंटे आराम कर लो फिर आप को ऑफिस का और काम करना है या फिर कही जाना हैं| ये आप से एक दिन नहीं बल्कि रोज़ बोला जाए , कल्पना करिए आप को कैसा लगेगा? अब यही अगर आप अपने बच्चे से रोज़ करवाते हैं तो उसका हाल क्या होता है , ये भी सोचने वाली बात है| स्कूल अपने समय से छूटता है और ट्यूशन टीचर अपने हिसाब से आता है| बच्चे के पास कोई ऑप्शन नहीं होता| तरीके हैं पर उनको समझने की ज़रुरत है| अब ज़रा सोचिए आप का बच्चा स्कूल से लौटे, खाना खा के आराम करे, शाम को कुछ देर खेलने के बाद, आराम से एक अनुभवी टीचर से अच्छी शिक्षा ले| ये हो सकता है- बस ऑनलाइन ट्यूशन के माध्यम से|

 5 ) पेरेंट की मुसीबत

“समय हमेशा आराम को आप से दूर रखना चाहता है ” – क्या कभी आप को ऐसा लगा ? रोज़ की अपनी बीज़ी रोटीन में आपको कभी ना कभी ऐसा लग ही जाएगा| अगर आप के दो बच्चे हैं , और दोनों अलग-अलग सब्जेक्ट में कमज़ोर हैं| या अगर एक ही बच्चा है और उसको एक से अधिक विषय में ट्यूशन की ज़रुरत हो, और वो भी दो अलग-अलग टीचर से, तो माता-पिता के लिए 2-3 ट्यूशन टीचर ढूंडना भी मुश्क़िल है| ऐसे में ऑनलाइन ट्यूशन से अपनी इस टेंशन को दूर किया जा सकता है|

 6 ) सुरक्षा , संगत  और समय

जब बच्चा, ट्यूशन या किसी और काम से, घर से दूर  होता है, या घर में अकेला होता है तो पेरेंट्स को उनकी चिंता लगी ही रहती है| वज़ह ये कि क्या उनका बच्चा सुरक्षित है , कहीं वो किसी गलत संगत में तो नहीं,  या फिर क्यूँ वो समय से नहीं आया या आता ? अगर ये चिंता ट्यूशन जाते समय की  है , तो इसका समाधान आप ऑनलाइन ट्यूशन से अच्छी शिक्षा देकर कर सकते हैं|

 7 ) टेक्नोलॉजी के और फ़ायदे

माँ-बाप जो कि आज के इस टेक्नोलॉजी को इतना नहीं समझ पाते जा ज़्यादा दिलचस्पी नही रखते, उनको इस तरह की चीजों को अपनाने में समय लगेगा , लेकिन उनको भी ये समझना होगा कि ये दौर टेक्नोलॉजी के सही उपयोग का है, और गर्व की बात ये है कि ये चीज़े बच्चों को समझाईं जायें तो वो जल्दी समझ सकेंगें| हम सबको ये समझना होगा कि  टेक्नोलॉजी हमेशा गलत नहीं होती| फ़र्ज़  करिए आपका बच्चा आज कुछ पढ़ता है  और कल को वो ही चीज़ उसको दुबारा समझना हो| ऑनलाइन ट्यूशन में हर सेशन को रिकॉर्ड किया जाता है ताकि बच्चे को अगर कोई दिक्कत हो तो वो टीचर को दुबारा सुन सके| ऐसे माँ-बाप भी अपने हिसाब से  पढ़ाई के स्तर को जाँच सकते हैं|

हर  पहलू  को समझते हुए और अपने बच्चे की सुरक्षा, उसके दिमागी विकास, उसके मन के आराम को ध्यान में रखते हुए आप ऑनलइन ट्यूशन का आकलन खुद कर सकते हैं, और इसको बिना किसी भय और चिंता के अपना सकते हैं|

वेदान्तू प्रदान करेगा आपके बच्चे को, घर बैठे ही ट्यूशन की अच्छी सुविधा| इस ऑनलाइन व्यवस्था का फ्री सेशन के रूप में उपलब्ध है| एक लिंक पर क्लिक करें और फ्री सेशन का उपयोग करें|

फीचर्ड इमेज सोर्स

loader