हैप्पी पेरेंट्स को नहीं करनी चाहिए ये बातें

 

 

माता -पिता छोटे बच्चे या किशोर बच्चों से अपनी ख़्वाहिशों की एक लम्बी लिस्ट बना लेते हैं।जिसे वो बच्चों को बड़ी ख़ुशी से बताते हैं,  जो उनके लिए बहुत ही आसान होता है। बच्चों को ये लगता है की पेरेंट्स उन पर अपनी उम्मीदों को थोप देते  हैं। पेरेंट्स बच्चों के लिए हर सम्भव कोशिश करते हैं की वो बेहतर करें।   पेरेंट्स को उम्मीद  रहती है कि  अगर हम बच्चों के लिए इतना सब कुछ कर रहें हैं ,तो बच्चे अच्छा और शानदार रिजल्ट देंगे। आइये देखते है कुछ टिप्स जो खुशहाल पेरेंट्स को नहीं करना चाहिए  –

1 -उम्मीद का सामंजस्य बनाये रखना :-ज़्यादातर बच्चे अपने मन का काम करते हैं। कभी -कभी ऐसा भी होता है कि आपने आज जो डिश खाने में दिया। उसे वो बच्चे बड़े आराम से खा लें। कभी वो ऐसा नही भी करते हैं।  पेरेंट्स को  बच्चों से कई उम्मीदें  होती हैं , गर बच्चे पूरा नहीं करते तो उनको निराशा हाथ लगती है। जब आप मानसिक रूप से तैयार होते है ,तो आपको इन बातों का कोई फर्क नहीं पड़ता और खुश भी रहते हैं।

 

2 -खुद से करें घर क सारे काम :-लोग घरों में अक्सर काम करने नौकर रख लेते हैं। परिवार के सभी सदस्य जब साथ सारे काम खुद से करते है तो उनको आपस में बात -चीत करने का मौका मिलता है। जिनसे आपस में  एक अच्छी बॉन्डिंग भी बन जाती है। फिर चाहे वो  साथ में काम करना या डायनिंग टेबल पर एक साथ  नाश्ता करना।  आप को बहुत सारी  खुशियाँ भी मिलती है और अच्छा समय व्यतीत हो जाता है।

3 – सख्ती से पेश आना :-बच्चे अक्सर हर बात की ज़िद करते हैं। लंच के पहले कुकीज़ खाने को मांगने की ज़िद करते हैं । यह अच्छी बात नहीं होती है। आप उसके डिमांड को पूरा कर देते हैं। ये सोच कर कि बच्चा है ,छोटा है क्यों न ज़िद पूरा कर दें। पेरेंट्स बच्चों  के विवेक को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। जिसके लिए उनको थोड़ा -सा इन्तज़ार करना पड़ सकता है। पेरेंट्स को बच्चों के प्रति सख़्ती से पेश आना  बहुत जरूरी है। ताकि बच्चे अपने जीवन के जिम्मेदारियों को समझ सकेंगे।

 

4 -गले से लगाना न भूले :-पेरेंट्स बच्चो को जब अपने गले से लगाते हैं, तो उनके  रिश्तों में मज़बूती आती  है। पेरेंट्स का फिजिकल कांटेक्ट बच्चोंमें होने से उनको बहुत आनंद मिलता है। खुशहाल पेरेंट्स अपने बच्चों के लिए दुनिया के सारे अवसर को उनको देने के लिए तत्पर होते हैं। इसके अलावा उनको सीमा भी बताते हैं।

 

5 – बच्चों से परफेक्ट होने की अपेक्षा न रखें  :-माता-पिता बच्चों से हर बात की उम्मीद लगाये रखते कि वो उनके हिसाब से  काम करेंगे जैसे -हैंड वाश करना ,कपड़े साफ रखें , या नेल्स न चबाना,बिस्तर पर उछल -कूद मचाना आदि आदतों की उम्मीद होती है।  उनको लगता है बच्चा ऐसी गलत हरकत नहीं करेगा।  कई बार आप उनको इन आदतों के लिए बार -बार टोकते हैं  कि टॉयलेट यूज़ करने के बाद हैंड वाश कर लिया करें। फिर भी  बच्चे ऐसा करना भूल जाते हैं।  पेरेंट्स को चाहिए कि बच्चों को प्यार से इन सब आदतों को अपनाने में मदद करें। ताकि वो बिना किसी टेंशन से आपकी बात को समझ सकें।

 

6 -बच्चों को समय न देना :-बच्चे हमेशा पेरेंट्स के फिजिकल कांटेक्ट में रहना चाहते हैं । इसके  लिए पेरेंट्स को चाहिए कि उनसे थोड़े  समय के लिए दूरी बना लें। ताकि बच्चे अपनी  भावनाओं को  जागरूक कर सकेंगे।  इससे पेरेंट्स को भी खुद के लिए समय मिलेगा और बच्चे भी आपकी जरूरत को समझ सकेंगें

7 -मदद करने में दूरी :-पेरेंट्स के लिए ये टास्क बहुत कठिन होता है कि वो अपने बच्चों के कामों में मदद न करें। बच्चों को उनका काम करने दें।  इस बात का ध्यान रखें की बच्चा जब भी आपकी मदद के लिए आगे आये।  उससे मदद जरूर लें।

 

8 -सभी के विचारों पर ध्यान देना:– पेरेंट्स बच्चों के लिए हमेशा अच्छा ही सोचते हैं। चाहे वो उनके पढाई के लिए हो या मेडिकशन्स की बात हो,अच्छे कपड़े पहनाने की बात  हो।  माँ -बाप बच्चों के लिए अच्छी  ही सोच रखते हैं ,और दूसरों की बातों का बिना परवाह किये बिना। अपने बच्चो के लिए क्या अच्छा है,क्या बुरा इन सब बातों की  इम्पॉर्टेन्स को उनको बताते हैं।  पेरेंट्स बच्चों को हेल्प करने के लिए हमेशा उनके साथ रहते हैं।

 

9 -बच्चों को वश में करने की कोशिश न करें :-माता -पिता बच्चों को अपने हिसाब से सारे काम करने की जोर डालते हैं। बच्चे उनके  इन कोशिश पर खरे नहीं उतरते हैं ,क्योंकि उनको इन सब बातों से चिढ़  होती है। बच्चे हमेशा आज़ाद और खुशहाल ज़िंदगी जीना चाहते है बिना किसी टोंका -टांकी के ।

10 -चीजों के बजाये लोगों को प्राथिमकता दें :-लोग अक्सर चीजों को ज़्यादा महत्व देते हैं। बजाए लोगों के, जिससे उनके रिश्तों में दादर आ जाती है। पेरेंट्स को चाहिए कि बच्चों को इम्पॉर्टेन्स दें ,ना कि चीजों को।  जिनसे आपके बच्चे को तकलीफ नहीं होगी।  आपके इस बिहेवियर से  वो खुद तो खुश रहेंगे ही एवं आपको शिकायत का मौका भी नहीं देंगे।

loader