गर्भवती महिला को ज़िका वॉयरस के बारे में ये बातें जानना जरुरी

आप गर्भवती हैं या आप बच्चा प्लान कर रही हैं। दोनों ही केस में जिका वायरस के बारे में जानना आपके लिए जरूरी है। मच्छर से फैलाने वाले इस वायरस से बच्चे को कई तरह की दिक्कतें होती हैं। अब तक ये वायरस करीब तीन दर्जन से ज्यादा देशों में अपने पांव पसार चुका है। इससे शिकार हुई गर्भवती औरतों के बच्चे बर्थ डिफैक्ट और ब्रेन डैमेज जैसी समस्या से ग्रसित हो गए। वल्र्ड हेल्थ आॅर्गनाइजेशन की रिर्पोट के अनुसार मच्छर के काटने से दिक्कत हो रही है। जीका वायरस का संक्रमण फैलाने वाला मच्छर श्एडीज एजीप्टीश् देश में व्याप्त है जो डेंगू वायरस भी फैलाता है।

क्यों ये हो सकता है खतरनाक

वैसे तो इसके लक्षण लोगों में बहुत सामान्य दिखता है मगर प्रेगनेंट औरतों को इसका खतरा ज्यादा है। क्योंकि इस संक्रमण की वजह से गर्भपात भी हो सकता है साथ इस संक्रमण के बाद बच्चा आसामान्य भी पैदा हो सकता है। इसके लक्षण इस प्रकार हो सकते हैं जैसे छोटा सिर या ब्रेन होने की आशंका होती है।

इसके लक्षण

इसका लक्षण सामान्य बुखार की तरह होता है। इसमें फीवर, सिरदर्द, रैश और ज्वाइंट पेन हो सकता है। इसके अलावा कंजेक्टिवाइटिस यानी आंख लाल हो सकती है। लक्षण एक सप्ताह तक भी रह सकता है मगर रिपोर्ट के अनुसार सिर्फ 20 प्रतिशत लोग ही बीमार हुए हैं।

कैसी होगी टेस्टिंग

वैसे तो इसकी जांच के लिए अभी पूरी तरह से कोई लैब नहीं है। न ही किसी तरह की किट मौजूद हो सकी है। फिर भी कुछ स्टेट ऐसे हैं जहां पर इस संक्रमण की जांच मुहैया करायी जा रही है। वहीं जो मांएं गर्भावस्था के दौरान ऐसे देशों में गयी हैं जहां पर संक्रमण उनकी और उनके बच्चे की जांच करायी जा रही है। इसके लिए अल्टासाउंड का सहारा लिया जा रहा है।

बचाव ही उपाय

हांलाकि इसकी कोई वैक्सीन नहीं है इसलिए बचाव  कराना ही एक मात्र विकल्प है। इसके लिए उन देशों में जाने से बचें जहां पर ये वायरस फैला है।

– इसके अलावा फुल स्लीव शर्ट पहनें साथ ही पैंट भी फुल ही पहनें।

– बग स्प्रे का इस्तेमाल करें जोकि गर्भवती महिला के लिए सेफ है।

– बाहर निकलने के पहले इन बातों का पूरा ख्याल रखें। 

loader