इन तरीकों से शिशु में हिचकी की समस्या को करें कंट्रोल

क्यों होती है नवजात शिशु को हिचकी? | Kyon hoti hai nawjat shishu ko hichki?

अक्सर आपने देखा होगा कि नवजात शिशु को हिचकी आती है, जो कि बेहद आम बात है। पहली बार माँ बनने वाली महिलाएं अपने शिशु में इस तरह की समस्या से परेशान हो जाती हैं, और तो और वह डॉक्टर के चक्कर लगाना शुरू कर देती हैं। लेकिन, इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

हिचकी आने के कारण

  • हिचकी आने की मुख्य वजह बच्चों के पेट में हवा का भरना, हालाँकि यह समस्या ज्यादातर बच्चों में दूध पिलाने के दौरान उत्पन्न होती है। क्योंकि, जब आप शिशु को बोतल से दूध पिलाती हैं तब शिशु दूध के साथ-साथ अपने अंदर हवा को भी भर लेता है। जिससे कि शिशु में हिचकी की समस्या उत्पन्न होने लगती हैं।

  • अगर बात दादी-नानी की करें तो उनका बच्चों में हिचकी आने का कारण शिशु के पेट का बढ़ना होता है। यानि कि शिशु को अब अधिक भूख लगती है, जिस कारण उसका पेट बड़ा होने लगता है। हालाँकि, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

अब बात यह आती है कि अपने शिशु में हिचकी की समस्या को कैसे कम करें, इसलिए निचे कुछ टिप्स बताएं जा रहें हैं जिसके जरिए आप उसे बंद कर सकती हैं, जो निम्न हैं-

थपकी दें

जब भी शिशु को हिचकी आ रही हो तब उसे अपने कंधे पर रख कर थपकी दें। इससे हिचकी की समस्या कम होती है।

डकार दिलाएं

आप अपने शिशु को दूध पिलाने के बाद डकार जरूर दिलाएं। क्योंकि, डकार न दिलाने के कारण शिशु के पेट में गैस बनने लगती है जो हिचकी को बढ़ावा देता है।

इसके अलावा, कुछ लोग अपने शिशु को पानी पिलाने की कोशिश करते हैं। लेकिन, एक बात का ध्यान रखें कि 6 महीने से कम उम्र के बच्चे को पानी न दें। क्योंकि, यह समस्या खुद ब खुद खत्म हो जाती है।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader