इन 5 तरीकों से समझें बच्चों में ब्रैस्टफीडिंग बंद कराने का सही समय

original, baby, all, breastfeeding

बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए माँ का दूध सबसे जरूरी माना गया है। लेकिन, यह भी सच है कि बच्चे को इसका सेवन एक सही उम्र तक ही कराया जाना चाहिए। हालांकि, कोई भी डॉक्टर कम से कम 6 महीने तक शिशु को स्तनपान कराने की सलाह देते हैं। ऐसे में, देखा जाए तो सही मायने में शिशु को 1 साल के बाद स्तनपान बंद करा देना चाहिए , और शिशु में हल्के-फुल्के ठोस आहार को सम्मिलित किया जाना चाहिए।

ऐसे में निचे कुछ संकेत बताए जा रहे हैं, जिसके जरिए आप यह अंदाज़ा लगा सकती हैं कि आपका बेबी अब स्तनपान को छोडने के लिए पूर्ण रूप से तैयार है, जिनमें निम्न शामिल हैं-

जब शिशु में दांत निकलने शुरू हों

जब बच्चे 6 महीने से उपर का होने लगता है, तब उनमें दांत निकलना शुरू हो जाता है। ऐसे में, आप इस दौरान स्तनपान कम करके कुछ और ऊपरी चीजें भी खिलाना शुरू कर सकती हैं। लेकिन, इसके बाद भी स्तनपान को जारी रखा जा सकता है।

ब्रेस्टफीडिंग में परिवर्तन

जब शिशु 6 महीने से बड़ा होने लगता है तब आप अपने ब्रेस्टफीडिंग के रूटीन में परिवर्तन पाएंगी। हालांकि, यह परिवर्तन इस बात इस बात का संकेत होता है कि शिशु को अब ठोस आहार देने की शुरुआत कर देनी चाहिए।

जब शिशु को ब्रेस्टफीडिंग में दिलचस्पी न हो

यदि आपका शिशु थोड़ा बड़ा हो जाए और ब्रेस्टफीड करने में दिलचस्पी ना ले तो माँ स्तनपान कराना बंद कर सकती हैं। इसके अलावा, जब आपका शिशु दिन में बहुत कम बार स्तनपान की मांग करता हो और दूध पिने के दौरान खेलना शुरू कर दे तब यह समझना चाहिए कि बच्चे का स्तनपान बंद कराने का समय आ गया है।

दूध का न बनना

7 महीने के बाद जब आपके स्तन में दूध बनना कम हो जाए तब आपको यह समझना चाहिए कि अब शिशु का इससे पेट नहीं भर सकता है, और इसके लिए आप उसे कुछ ठोस आहार देना शुरू कर दें।

स्वास्थ्य से सम्बंधित परेशानी

जब आपको किसी प्रकार की तकलीफ हो रही हो, या फिर आप स्तनपान कराने में सक्षम नहीं हो पा रही हों तब ऐसे में शिशु को स्तनपान कराना बंद कर दें।

हालाँकि, स्तनपान छुड़ाने से पहले इस बात का जरूर ध्यान रखें कि शिशु को एकदम से स्तनपान बंद न कराएं क्योंकि, इससे न केवल शिशु को बल्कि आपके स्वास्थ के लिए भी अच्छा नहीं होगा। ऐसा करने से आपके ब्रेस्ट में इन्फेक्शन होने का खतरा होता है और अचानक इस बदलाव से बच्चा चिड़चिड़ा भी हो सकता है।

आपकी बिंदु– एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

loader