एक महीने पहले महिलाओं में पता चल जाता है एचआईवी के लक्षण

एचआईवी को ह्युमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस (HIV) के नाम से भी जानते हैं, जो एक यौन संचारित रोग है। जो कि असुरक्षित तरीके से संबंध बनाने से फैलता है। हालाँकि, एचआईवी संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण बहुत ही हल्के तौर पर दिखाई देते हैं, और यदि इसका शुरूआती तौर पर पता चल जाए तब इसका इलाज किया जा सकता है।

ऐसे में, निचे इसके कुछ शुरूआती लक्षण बताए जा रहे हैं, जिसको महिलाएं ध्यान में रख सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

शुरुआती लक्षण

  • बुखार

  • सिर दर्द

  • शरीर में ऊर्जा की कमी

हालाँकि, कुछ मामलों में इस तरह के लक्षण कुछ हफ्तों के भीतर चले जाते हैं, लेकिन इसके गंभीर लक्षण आपको दस साल बाद दिखाई दे सकते हैं।

ग्लैंड्स में सूजन

हमारे शरीर कई हिस्सों में लिम्फ नोड्स होते हैं, जिसमें सिर, गर्दन, गले, और गर्दन भी शामिल है। लेकिन, लिम्फ़ नॉड्स में इन नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों का सामना करने के लिए इम्यून सेल भी मौजूद होते हैं।जब लिम्फ़ इंफेक्शन फैलाने वाले तत्वों से भरा हुआ होता है और एक्टिव इम्यून सेल्स उनका सामना कर रहे होते हैं तो वो सूज जाते हैं और उनमें काफी दर्द भी होता है। वो आकार में भी बड़े हो जाते हैं, जो कि एचआईवी का  माना जाता है। इसके अलावा, एचआईवी से संक्रमित लोगों में, इस तरह की सूजन कई महीनों तक रह सकती हैं।

त्वचा संबंधी समस्या

त्‍वचा पर रेशेज या लाल पड़ना किसी संक्रमण या कीड़े काटने से भी उत्पन्न हो सकती है। लेकिन, शरीर में हल्‍के लाल रंग के चकत्ते के साथ रेशैज की समस्या एचआईवी के लक्षण की ओर इशारा करता है। ऐसे में, इस तरह के लक्षण नज़र आते ही आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

बुखार लगना

एचआईवी से संक्रमित महिलाओं में बुखार बहुत लम्बे समय तक रह सकता है। हालाँकि, 99.8 डिग्री फ़ारेनहाइट और 100.8 डिग्री फारेनहाइट के बीच के तापमान को लोग निम्न श्रेणी का बुखार माना जाता है। लेकिन, यह एचआईवी का एक लक्षण हो सकता है जिसे लोग इग्नोर कर देते हैं जो आगे चलकर आपके लिए घातक साबित हो सकती है  

पीरियड्स में बदलाव

वह महिलाएं जिनमें एचआईवी के लक्षण होते हैं उनके पीरियड्स में बदलाव देखा जाता है। ऐसे में आपका पीरियड्स सामान्य से हल्का या भारी हो सकता है या फिर आपका पीरियड्स का न आना भी शामिल है।

बैक्टीरियल और यीस्ट संक्रमण

एचआईवी पॉजिटिव महिलाओं में बैक्टीरियल और यीस्ट संक्रमण अधिक सामान्य रूप से हो सकते हैं। ऐसे में, यदि किसी महिला में इस तरह के लक्षण नज़र आए तब आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

यौन संचारित संक्रमण

एचआईवी भी एसटीआई होने के खतरे को बढ़ाता है, जिनमें शामिल हैं:

  • क्लैमाइडिया

  • गोनोरिया

  • जेनाइटल वार्ट्स

  • गर्भाशय ग्रीवा कैंसर

  • बहुत अधिक थकान

थकावट महसूस होना

अगर किसी महिला में जरूरत से ज्यादा थकान महसूस हो तब यह एचआईवी का लक्षण हो सकता है। एचआईवी संक्रमण के शुरुआती चरण और बाद के समय में भी थकावट का लक्षण देखने को मिलता है।

अचानक से वजन कम होना

एचआईवी से ग्रस्‍त महिलाओं के वजन में अचानक से कम होने लगता है। अगर आपका बिना किसी कारण के लगातार वजन कम हो रहा हो तब आपको जाँच करा लेनी चाहिए।

Feature Image Source: demandstudios.com

loader