डायपर रैशेज़ क्रीम को रोजाना अपने बच्चे के रूटीन में करें शामिल

संध्या मेनन

 

हर माँ अपने नवजात शिशु को हर तरीके से खुश देखना चाहती हैं, जैसे कि उसे अच्छे से फीड कराती हैं, या फिर उसके नींद का भी पूरा-पूरा ख्याल रखती हैं, ताकि वह आराम से रह सके। हालाँकि, यह सच है कि जब एक बच्चा रोता है, तो माँ सबसे पहले यह देखती है कि बेबी कहीं भूखा तो नहीं है। इसके बाद वह उसके टेम्परेचर और फिर उसके डायपर को चेक करती हैं कि कहीं इन सब कारणों से तो नहीं रो रहा है। लेकिन, जब यदि डायपर पहनाने से आपके शिशु की त्‍वचा पर कोई लाल निशान पड़ गया हो तब यह बच्चे के लिए बहुत कष्टदायक हो सकता है।  

 

अधिकांश भारतीय माँ अभी हाल के कुछ वर्षों से बच्चों के लिए डायपर रैशेज़ क्रीम का प्रयोग कर रही हैं। लेकिन, इसका प्रयोग बच्चे के साफ-सफाई को ध्यान में रखते हुए रोजाना किया जाना चाहिए। साथ ही आप इस इस बात का भी ध्यान रखें कि आप जो भी क्रीम अपने शिशु को लगा रहीं हों उसमें अधिक से अधिक प्राकृतिक तत्व मौजूद हों, जैसे कि हिमालया डायपर रैशेज़ क्रीम। इसके अलावा आपके बच्चे के रैशेज़ से छुटकारा दिलाने के लिए नेचुरल जिंक, एलोवेरा, आलमंड ऑयल बच्चे के त्वचा को आराम पहुंचा सकते हैं।  

 

सामान्यतः अभी भी कुछ घरों में माँ अपने बच्चे के लिए कपड़े का डिस्पोजेबल डायपर प्रयोग करती, हालाँकि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। लेकिन, इस बात का जरूर ध्यान रखें कि कोई भी डायपर यदि गीला हो जाता है, तो उसे तुरंत बदलने की कोशिश करें, क्योंकि इससे लाल रैशेज़ के साथ-साथ दाने भी निकलने का खतरा रहता है। यह बिल्कुल सच है कि जितना बच्चे को ड्राई रखना महत्वपूर्ण है, उतना ही उन्हें मॉइस्चराइज्ड भी। क्योंकि, इससे बच्चे के रैशेज़ और दाने से राहत मिलती है।  

 

अपने बच्चे को डायपर रैशेज़ क्रीम लगाते समय कुछ बातों का जरूर ध्यान रखें, जिनमें निम्न शामिल हैं-

 

  • जब बच्चे में रैशेज़ की समस्या बहुत अधिक बढ़ रही हो तब इस क्रीम का प्रयोग न करें। इसका प्रयोग करने के लिए सबसे पहले अपने बेबी को अच्छे से वाश करें, इसके बाद उस जगह को अच्छे से सुखा लें फिर इस क्रीम का प्रयोग कर डायपर पहनाएं। डायपर बांधने से पहले इस बात की पुष्टी जरूर कर लें कि वह जगह मॉइस्चराइज्ड है कि नहीं, विशेष रूप से हिमालया डायपर क्रीम का प्रयोग करें, जिसमें बादाम तेल के गुण मौजूद हों।

  • इस बात की पुष्टि जरूर कर लें कि बच्चे का डायपर एरिया अच्छे से सूखे और साफ होने चाहिए। हिमालया डायपर क्रीम में जिंक की मात्रा मौजूद होती है, जो बच्चे के डायपर एरिया को ड्राई रखता है। इसके अलावा, इसमें एंटीसेप्टिक और कसैले के गुण मौजूद होते हैं जो रैशेज़ की समस्या को बहुत जल्द कम करने में मदद करता है।  

  • आप इस क्रीम को अपने बच्चे के डायपर एरिया में रोजाना इस्तेमाल करें, हालाँकि शुरुआत में कुछ लाल दाने दिखाई दे सकते हैं, लेकिन रोजाना प्रयोग करने से यह धीरे-धीरे खत्म हो जायेंगे।   

  • यदि आपके पास डायपर रैशेज़ क्रीम मौजूद नहीं हैं तो ऐसे में आप अपने घर में लगे हुए एलोवेरा का प्रयोग कर सकते हैं, इसके अलावा आप किसी स्टोर से एलोवेरा जेल लाकर भी उस रैशेज़ एरिया पर लगा सकती हैं। हालाँकि, हिमालया डायपर रैशेज़ क्रीम में एलोवेरा की मात्रा पहले से ही मौजूद होती है।

 

Translated By- Supriya

loader