ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मददगार है यह 5 घरेलू नुस्ख़े

ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में वरदान हैं यह उपाय | Brest milk badhane men wardan hain yah upay.

हमेशा से लोगों का कहना है कि माँ का दूध बच्चों के लिए अमृत समान है, यह बिल्कुल सच बात है। लेकिन, माँ का दूध न केवल बच्चों के लिए जरूरी है बल्कि इससे बच्चों के इम्युनिटी सिस्टम को भी बढ़ावा मिलता है। बच्चे इसका सेवन करके किसी भी प्रकार के रोगों से लड़ सकते हैं। अब बात यह आती है कि क्या बच्चे को जितनी दूध की जरूरत होती है, उतनी ही मात्रा में माँ का दूध उन्हें मिल पाता है। यदि नहीं, तो इसमें परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि यह चिंता करने वाली आप अकेली नहीं हैं। बल्कि और भी बहुत सी ऐसी महिलाएं हैं जो उचित मात्रा में अपने बच्चों के लिए दूध का निर्माण नहीं कर पाती हैं।

ऐसे में, किसी भी निष्कर्ष तक पहुँचने से पहले आप कुछ आसान से घरेलू उपाय के जरिए आप तुरंत ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ा सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

मसूर दाल

मसूर दाल दूध बढ़ाने के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि, यह प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। साथ ही, इसमें आयरन और फाइबर की उच्च मात्रा मौजूद होने के कारण दूध के निर्माण में मदद मिलती है।

मेथी के बीज

यदि बात माँ के स्तन के दूध बढ़ाने की बात की जाती है तो मेथी के बीज का नाम सबसे उपर होता है। जिसका प्रयोग दादी-नानी के ज़माने से चलती आ रही है। हालांकि, मेथी के बीज में ओमेगा-3 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो दूध के वृद्धि में सहायक माना जाता है। इतना ही नहीं इसमें, बीटाकैरोटीन, बी विटामिन, आयरन और कैल्श्यिम भरपूर मात्रा में होने के कारण यह शिशु के दिमाग के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है।

लहसुन

ज्यादातर घरों में इसका प्रयोग सब्जियों के लिए किया जाता रहा है, लेकिन क्या आपको पता है कि इसका प्रयोग स्तन दूध को बढ़ाने के लिए भी अहम माना जाता है। इतना ही नहीं, यह लोगों के इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में भी मददगार है।    

ड्राई फ्रूट्स

स्तन के दूध को बढ़ाने में सूखे मेवे का बहुत योगदान माना जाता है, इससे न केवल दूध को बढ़ाया जाता है। बल्कि, प्रसव के दौरान मांशपेशियों में होने वाले दर्द और उसके कमजोरी को भी दूर किया जा सकता है। क्योंकि इसमें कैलोरी, विटामिन और खनिज प्रचुर मात्रा में होते हैं, जिससे कि माँ के शरीर को मजबूती मिलती है।   

करेला

करेला जितना कड़वा होता है, उससे कही ज्यादा फायदेमंद भी होता है, क्योंकि इसमें पाया जाने वाला विटामिन महिलाओं में लैक्‍टेशन को सही करता है। जिससे कि स्तन दूध के वृद्धि में मदद मिलती है।

इसके अलावा, स्तनपान कराते समय अपने स्तन को हल्के हाथों से दबाएं। इससे भी दूध उत्पादन में मदद मिलती है।  

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

loader