बॉडी वाश या बार शॉप आपके बेबी के लिए क्या है बेहतर?

संध्या मेनन

याद है वह समय जब आपके घर के पूरे सदस्य एक ही साबुन का प्रयोग करते थे। यहाँ तक की सबके बॉडी से स्मेल भी एक जैसी आती थी। क्योंकि, घर के सारे लोग एक की साबुन का प्रयोग करते थे। उनलोगों के लिए एक सपना जैसा ही था कि कोई व्यक्ति एक दुसरे से अलग स्मेल कर रहा हो। वहीं संध्या ने कहा कि हमारे घर में सब लोग पेयर्स और इंपीरियल साबुन की खुशबू के साथ बड़े हुए हैं। क्योंकि, इनके घर में लोग इसी साबुन को ज्यादा प्रयोग करते थे। साथ ही उन्होंने कहा कि किसी ने यह नहीं सोचा कि यह कितना अनहायजेनिक है, बल्कि यह लोगों के खुद की सफाई के लिए सही था। लेकिन, लोग यह नहीं सोाचते थे कि इसमें हर लोगों के शरीर का कीटाणु शामिल है।  

हालाँकि, जैसे-जैसे लोग बड़े होते गए, उनके घरों में साबुन भी अलग-अलग होते गए। ज्यादातर, घरों में लोग बार साबुन का ही प्रयोग करते थे। लेकिन, आज के समय में मार्केट में लिक्विड साबुन के आने से इसका डिमांड बढ़ गया है, और लोगों को खरीदने में भी आसानी हो गयी है। इसका एक कारण यह भी है कि अब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग साबुन खरीदने की जरूरत नहीं पड़ती है।

साथ ही संध्या ने अपनी राय दी, कि मुझे क्या पसंद है? उन्होंने कहा कि मुझे हर दिन एक फ्रूटी स्मेल्लिंग बॉडी वॉश और लूफा दे दो। क्योंकि उन्हें इसकी महक बेहद पसंद है, और साथ ही उन्होंने कहा कि कोई शॉप इसके आड़े नहीं आ सकता है। ऐसा उन्होंने इसलिए कहा क्योंकि मार्केट में मिलने वाले साबुन से उनकी त्वचा बहुत ज्यादा शुष्क हो जाती है, जो उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं है। साथ ही उन्हें इस बात का एहसास हुआ कि उनके बॉडी को किसी माइल्ड बेबी शॉप की जरूरत है। क्योंकि, यह बैंगलोर में रहती हैं और यहाँ का मौषम हमेशा सूखा रहता है। साथ ही उहोंने कहा कि इस मौषम में मेरे बच्चे कुछ ज्यादा ही गंदे हो जाते हैं, ऐसे में पूरे दिन में उनके लिए दो बार नहाना सामान्य बात है। इसके लिए वह खुद और बच्चों के लिए साबुन का प्रयोग नहीं करती हैं, क्योंकि वह बॉडी वॉश और बेबी बाथ की बहुत बड़ी फैन हैं।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि मैंने बहुत सारे ब्रांड के बॉडी वॉश का प्रयोग किया है, लेकिन जो मुझे सबसे ज्यादा प्रभावित किया वो है हिमालया बेबी बाथ। क्योंकि,  हिमालया के प्रभावित करने के बहुत सारे कारण हैं, जिसमें सबसे महत्व्पूर्ण इसका इंग्रेडिएंट और इसकी कीमत है।   

उन्होंने, अपने बचपन के दिनों को याद करते हुए कहा कि, जब मैं छोटी थी, तब मेरी मॉम मुझे हरे चने, मूंग या मटर के पाउडर से नहलाया करती थीं। इन पाउडर को पानी के साथ अच्छे से मिक्स कर नहलाती थीं और उसके ऊपर से दूध के छींटे भी डालती थीं। नहाने के बाद हमारा बॉडी बहुत अधिक चमकता था, और ऐसा लगता था जैसे किसी ने पॉलिश किया हो। इतना सब होने के बाद चेहरे पर एक अलग सी ख़ुशी होती थी। साथ ही उन्होंने कहा कि इन चीज़ों को फिर से हिमालया बेबी बाथ ने दोहराया है। हालाँकि, इन सब के पीछे सिर्फ यही वजह है कि मुझे बार सॉप की अपेक्षा लिक्विड शॉप ज्यादा पसंद हैं। इसके और भी कारण हैं जो निम्न हैं-   

  • बार साबुन पारंपरिक रूप से सोडियम हाइड्रोक्साइड युक्त होता है, जो त्वचा को शुष्क बनाता है; हालांकि आजकल, कुछ नए डिटर्जेंट हैं जो आपके त्वचा को शुष्क होने से बचा सकता है। लेकिन आप इसके लिए भी पूर्ण रूप से सुनिश्चित नहीं रह सकते हैं।
  • लिक्विड शॉप बार शॉप की तुलना में अधिक हाईजेनिक है, क्योंकि जब आप नहाने के बाद साबुन के बॉक्स को बंद करते हैं, तो मुख्य रूप से शॉप मॉइस्चर वाली जगह पर होती है, जहां बैक्टरिया होने की संभावना अधिक होती है।   
  • अपने बच्चे को नहलाने के लिए कम लिक्विड शॉप का प्रयोग कर सकते हैं, क्योंकि थोड़ा सा लिक्विड बच्चों के लिए बहुत अधिक झाग उत्पन्न कर देता है।
  • यात्रा के दौरान भी आपके बच्चे के लिए लिक्विड शॉप एक बेहतर विकल्प है। क्योंकि, चिपचिपा साबुन पैक करना उचित नहीं है, साथ ही नहलाते समय यह फिसल कर इधर-उधर भी जा सकता है।   
  • बच्चे को बबल बाथ देने से पहले यह जरूर तय करें कि उसके नहाने का टब बड़ा हो ताकि वह अच्छे से खुश हो कर बाथ का मजा ले सके।

 

 

loader