बीएफएन का बोझ

 

जब आप मां बनने की कोशिश करते हैं सकारात्मक सोच रखना सामान्य है। प्रेगनेंसी किट को हाथ में लेती है आपको लगता है कि परिणाम पाॅजटिव ही होगा। फिर भी कई बार निराशा ही हाथ लगती है। क्योंकि आपको बीएफएन हाथ लगता है यानी बिग फैट निगेटव‘। इससे मानसिक और शारीरिक दोनों तरह का कष्ट होता है।  मां बनना बहुत सुखद एहसास है। ये वो सुख है जो लाखों तकलीफ के बावजूद खुशी का तोहफा देता है। कई ऐसे दंपति हैं जो इस एहसास से वंचित हैं। खास करके मांएं उनकों हर महीने उम्मीद होती है कि शायद इस बार कुछ बात बने। वो ये खुशख़बरी परिवार और रिश्तेदारों को दे सकें। यहां हम पांच ऐसे स्टेज की बात कर रहे हैं जो बीएफएन के बाद आम है।

1- विश्वास में कमी

हो सकता है कि आप सच को मानने में संकोच करें। आप दिन,समय और घंट सब कलकुलेट करती हैं फिर आपको प्रेगनेंसी किट पर भी संदेह होता है। उसके बाद आप ब्लड टेस्ट का सहारा लेना चाहती हैं ताकि आपको पता चले कि आपने कंसिव कर लिया है। ये होना आम बात है कि आपको ऐसा लगे।

2- दूसरों की गलती से खुद का नुकसान

ऐसा भी हो सकता है कि आपको लगे कि इसका जिम्मेदार कोई और है। बेवजह औरतें इस अवस्था में दूसरे को दोष दे सकती हैं। अक्सर ऐसा होता है कि महिलाएं आपने पार्टनर को दोषी ठहराती हैं। इसके अलावा दूसरों के प्रति आपका व्यवहार एकदम अलग होता है।

Untitled design (81)

 

     Image source 

3-खान-पान पर गुस्सा

ये ऐसा दर्द है जिसमें आप हर चीज को संदेहजनक मानती हैं। बीएफएन से आपको फ्रस्टेªशन हो सकता है। आपने खाने की आदत में भी आपको लगता है कि आप कुछ गलत खा रही हैं। ऐसे में आप ये भी सोच सकती हैं कि काॅफी और चीनी को डाइट से हटा कर आप गर्भधारण कर सकती हैं।

4 समझौता करना

एक बार जब आपके हार्मोन्स सेटल हो जाते हैं आपको सच्चाई का पता चल जाता है। इसके बाद को गर्भवती नही होने के पाॅज्टिव पार्ट भी समझ में आते हैं।

 

  Featured image 

 

loader