बच्चों के रूम में एसी चलाने से पहले एक बार इसे जरूर पढ़ लें

 

गर्मी अब धीरे-धीरे दस्तक देना शुरू कर दिया है ऐसे में लोग इससे बचने के एसी और कूलर का सहारा लेते हैं। लेकिन, अगर आपके घर में नवजात शिशु हो तब ध्यान रहे कि उन्हें एसी में ज्यादा देर तक रखना खतरनाक हो सकता है। क्योंकि, अक्सर माता-पिता बच्चे को एसी या कूलर में रखते हैं ताकि उन्हें गर्मी का अधिक आभास ना हो। लेकिन कई माता-पिता ऐसे होते हैं जिन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती है कि बच्चे के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। एसी की ठंडी हवा से बच्चे बीमार पड़ सकते हैं। ऐसे में एसी का  इस्तेमाल करने से पहले इससे जुड़ी जानकारी के बारे में पता लगाना आवश्यक है ताकि आपके बच्चे को किसी प्रकार की हानि ना पहुंचें।

हालाँकि, एसी का प्रयोग करते समय यदि कुछ सावधानियाँ बरती जाये अब यह बहुत हद तक ठीक है। अधिकांश डॉक्टर मानते हैं कि नवजात के साथ कूलर या एयर कंडीशनर (एसी) का उपयोग एकदम सुरक्षित है। शिशु को गर्म, वायुहीन और आर्द्र वातावरण में रखने से बेहतर है कि उसे ठंडे वातावरण में रखा जाए।

लेकिन, एसी चलाते समय इन बातों का जरूर ध्यान रखें जो निम्न हैं-

कमरे को अधिक ठंडा न करें

जब भी आप शिशु के रूम में एसी चला रहे हों तब इस बात का जरूर ध्यान रखें कि कमरे के तापमान सही हो। क्योंकि, कमरे में अत्याधिक ठंड रहने से शिशु के शरीर का तापमान घट सकता है और उसे ठिठुरन हो सकती है। इसलिए, इन बातों का नज़रअंदाज़ करना शिशु के लिए खतरनाक हो सकता है।

सर्दी या जुखाम से बचाव

आमतौर पर जब आप कमरे में एसी चलाते हैं तब आपको न केवल उसके तापमान का ध्यान रखना चाहिए बल्कि शिशु के बॉडी का भी ध्यान रखना चाहिए कि कहीं उसे अधिक ठंड तो नहीं लग रही है। क्योंकि, इससे नवजात को तुरंत सर्दी-जुखाम की समस्या हो सकती है। इस समय शिशु की इम्युनिटी काफी कम होती है इसलिए वह संक्रमण की चपेट में जल्दी आ जाते हैं।

इतना ही नहीं, बाहरी गर्मी और आर्द्रता में परिवर्तन का असर आपके एसी या कूलर की ठंडक पर भी पड़ता है। आपका कमरा काफी जल्दी बहुत ठंडा या गर्म हो सकता है। यह शिशु के लिए असुविधाजनक लग सकता है।

एसी को बंद करना न भूलें

अगर, आप एसी इस्तेमाल करती हैं, तो उतने समय का टाइमर लगा दें, जितने समय में आपका कमरा ठंडा हो जाता है। अगर, आपके एसी में अंतर्निहित टाइमर नहीं है, तो एसी बंद करना याद रखने के लिए आप अलार्म घड़ी का इस्तेमाल कर सकती हैं। अगर, आपका एसी तापमान प्रदर्शित नहीं करता है, तो कमरे के तापमान का पता रखने के लिए थर्मोमीटर का उपयोग करें।

 

शिशु को सर्द-गर्म से बचाएं

शिशु को एसी कमरे में रखने के दौरान इस बात का जरूर ध्यान रखें कि इससे निकलने के तुरंत बाद शिशु को किसी गर्म स्थान पर न ले जा। क्योंकि, ठंड से गर्म में तुरंत निकलने से शिशु बीमार पड़ सकता है। बेहतर यह है कि कमरे से बाहर निकलने से थोड़ी देर पहले एसी बंद कर दें। इससे शिशु को बाहर के तापमान के साथ समायोजित होने का समय मिल सकेगा।

शिशु को गर्म कपड़े पहनाएं

एसी में रखने से पहले शिशु को हल्के कपड़े पहनाएं, जो उसकी बाजुओं और टांगों को ढक लें। ऐसा करने से शिशु का ठंडी हवा से बचाव होगा। अगर, आप चाहे तों शिशु के सिर पर हल्की टोपी पहना सकती हैं।

ऐसे में, इन बातों को ध्यान में रख कर आप अपने शिशु को एसी में भी सुरक्षित रख सकती हैं।

loader