बच्चों को सेहतमंद बनाएं मोटा नहीं 

how to raise children in good way - Zenparent

माता -पिता अपने बच्चे को हर सुख देने की कोशिश करते है लेकिन   इसके  बारे में पेरेंट्स  नहीं सोचते है, कि बच्चो को जो मील दे रहे है।  वो उनके हेल्थ के  लिए कितना लाभदायक है। जिसके लिए हर संभव प्रयास करते है।  लेकिन कभी ये नहीं सोचते की आगे चल कर बच्चे को मोटापे से कोई दिक्कत होगी या नहीं आइये जानते है कुछ सुझाव जिससे हम ऐसी गलती न करें-

ग्लूटेन फ्री अथवा आर्गेनिक आहार को लेना :-  बच्चे को अगर सील पैक मील दे रहे है। तो पैक लेबल की जानकारी करके बच्चे को फीड कराते है। लेकिन आपको ये नहीं पता होता है,इन सील पैक मील से लोग आपको हेल्थी आहार खाने के लिए गुमराह कर रहे हैं। ऐसे में बच्चे को शुद्ध और ताज़ा में से फीड करेंगे तो बच्चा तो स्वस्थ रहेगा ही साथ ही साथ तंदुरस्त भी रहेगा। जिसके लिए पेरेंट्स बच्चे के खादय पदार्थ पर विशेष ध्यान दे कि कितना सोडियम ,कितना कैलोरीज़ दे  रहे हैं।

 

पेय पदार्थ का होना :-  अक्सर माता -पिता बच्चों फलों का रस पिलाने में अच्छा मानते हैं। जिससे  बच्चे हेल्थी रहेंगे। लेकिन मीठा पेय पदार्थ से बच्चे में हाई कैलोरी हो सकता है जिससे बच्चे का  वजन अधिक हो  सकता है। पर अगर बच्चो को फलों के रस बजाय ताज़ा  फल खाने को दिया जाये तो उनको फाइबर प्रचुर मात्रा मिलेगा। ज्यादा जूस देने से बच्चे सॉलिड फ़ूड (ठोस खाद्य पदार्थ) जिनसे उनको फाइबर और वसा ,प्रोटीन मिलता है उनको खाने में न नुकर करते हैं।

stop feeling guilty mom because you prepared bad food for the day - ZenParent

बच्चो को खाने में अनाज देना :- भागती -दौड़ती  जिंदगी में लोग अक्सर बच्चों को लंच में मीठा पैक या मार्केट मील देते हैं। जो बच्चो हेल्थ के अच्छा नहीं हैं। पेरेंट्स बच्चों को खाने में आनाज को शामिल करें और बच्चों को स्वस्थ रख सकेंगे। बच्चे के खाने में  दलिया , वसा युक्त दही ,अंडा आदि नाश्ते में  हैं।

 

सम्पूर्ण रोटी स्वास्थ के लिए लाभदायक  :-  अच्छे स्वास्थ के  फाइबर युक्त गेंहू के रोटी बच्चों को खिलानी चाहिए। जिनसे  बच्चों में  उच्च रक्त चाप और ग्लूकोज़ की  मात्रा  समान रूप से काम करता हैं। इससे वजन भी नहीं बढ़ेगा और बच्चा हेल्थी यवम फिट रहेगा। तो  क्यों न हम बच्चो के मील में रोटी को शामिल करें। जो हेल्थ के लिए अच्छा भी हो।

 दही देना :- बच्चो को आइस क्रीम की जगह pure दही दिया जाये और उसमे कुछ फल डाल  दिया दें। जिनसे  बच्चा  फैट भी गेन नहीं करेगा और हेल्थी भी रहेगा।गाढ़ा जमा हुआ दही में बच्चो के पसंद का फल डालकर देने से उनको काफी हद तक एनर्जी बूस्ट किया जा सकता है।

वेजिटेबल चिप :- बच्चो आलू चिप्स के सिवाए अगर उंनको हरी सब्जियॉ  जैसे गोभी ,कद्दू ,गाजर आदि सब्जियों के चिप्स अगर उनको खाने में दिया जाये तो वजन नहीं बढ़ेगा और बच्चा भी हेल्थी रहेगा। क्योकि हरी सब्जियां से या उनके चिप्स से बच्चे कोई नहीं नुकसान होगा उनका फैट  भी नही बढ़ेगा ।

 

loader