अपने बच्चे को इन 6 तरीके से खिलाएं खाना, कभी खाने से मना नहीं करेंगे

वह पेरेंट्स खुद को काफी लकी मानते हैं जिनके बच्चे बिना किसी ना-नुकर के जो सामने रख दो वह खा लेते हैं। लेकिन, यह किसी भी पेरेंट्स के लिए सिर्फ सोचने जैसी बातें हैं क्योंकि, हकीकत में तो बच्चे खाना खाने में अपने पेरेंट्स के छक्के छुड़ा देते हैं। हालाँकि, देखा जाए तो यदि इस समय आप अपने बच्चे को पोषण से भरपूर आहार नहीं देती हैं तब आपके लिए काफी मुश्किल भरा हो सकता है। क्योंकि, बढ़ते बच्चे के लिए भरपूर पोषण की जरूरत होती है ताकि बच्चे का सम्पूर्ण विकास हो सके। अब आप यह सोच रही होंगी कि अपने बच्चे को कैसे आसानी से खिलाया जाए, ताकि वह खा सके। ऐसे में, निचे कुछ आसान टिप्स बताए जा रहे हैं जिसके जरिए आप अपने बच्चे को खिला सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

शेड्यूल तैयार करें

अपने बच्चे में खाने की शुरुआत करने से पहले एक शेड्यूल तैयार कर लें कि कब क्या देना है। क्योंकि, बच्चे को हर चार से पांच घंटे में कुछ खाने की डिमांड होती है।  इसके लिए पहले से ही आप यह तय कर लें कि उन्हें क्या-क्या देना है। जैसे कि आप उनके लिए तीन मील्स, दो स्नैक्स और बहुत सारे तरल-पदार्थ या फ्रूट रखें। क्योंकि, यह आपके बच्चे के लिए बैलेंस्ड डाइट है।

उनके डाइट में नए-नए फ़ूड को शामिल करें

इस बात का हमेशा से ध्यान रखें कि आप अपने बच्चे को शुरुआत से ही सारी चीज़ों की आदत डालें। इसके लिए, आपको उनके आहार में नई चीज़ों को शामिल करना होगा ताकि उन्हें उनके टेस्ट के बारे में पता चल सके। इसके साथ ही आप उन्हें बचपन से ही ग्रीन वेजिटेबल और फ्रूट खाने की आदत को डालें।

खाने को प्रेजेंट करने का तरीका

यदि आपके बच्चे वेजिटेबल खाने में रूचि नहीं दिखा रहें हैं तब आप उन्हें अलग तरीके से काट कर अच्छे से दें। जैसे कि यदि आपके बच्चे गाजर खाने में इंट्रेस्ट नहीं दिखा रहे हैं तब आप उन्हें पतले-पतले हिस्सों में काट कर दें। साथ ही इसके साथ आप किसी बाउल में दही डाल दें तो हो सकता है कि वह डिप कर के उसे खाएं। क्योंकि, कुछ बच्चे को दही के साथ वेजिटेबल्स अच्छे लगते हैं।

सोया मिल्क

यदि आपके बच्चे को दूध से कोई एलर्जी नहीं है तब सोया मिल्क एक बेहतर विकल्प है। हालाँकि, कुछ बच्चे को सोया दूध पसंद नहीं होता है लेकिन, जब आप इसे किसी अन्य खाद्य-पदार्थों में मिक्स करते हैं तब उन्हें पता नहीं चलता है कि इसमें सोया मिल्क मिला है या नहीं। इसके अलावा आप कम वसा वाले, कैल्शियम का भी प्रयोग कर सकती हैं जैसे कि ओटमील, मैश्ड आलू और सॉस जैसी तैयार रेसिपी के रूप में।

कुछ मीठा हो जाए

इसमें कोई दो राय नहीं है कि बच्चे को मीठा कितना पसंद होता है, क्योंकि मैंने देखा है कि कुछ बच्चों के फल या सब्जी के ऊपर थोड़ा सा भी चीनी छिड़क दो तब वह मजे से खा लेते हैं। हालाँकि, इसके लिए आप चीनी की जगह ब्राउन शुगर का इस्तेमाल कर सकती हैं।

बच्चे को लालच दें

जब आपके बच्चे बहुत ही अच्छे तरीके से डाइट को फॉलो करते हैं तब आप उन्हें कैंडी, सोडा या फिर कुकीज दे सकती हैं। ताकि वह खुश हो कर आपकी बात मानें। क्योंकि, यदि बच्चे हफ्ते में पांच से छह दिन हैल्दी खाते हैं तब आप उन्हें एक दिन इन चीज़ों को खाने के लिए दे सकती हैं।

इसके अलावा, इस बात का भी ध्यान रखें कि आप अपने बच्चे को जितना हो सके जंक फ़ूड से दूर रखें क्योंकि यह आपके बच्चे के लिए सही नहीं है। बल्कि इसकी जगह, हरी-पत्तेदार सब्जियों और फ्रूट को शामिल करें।

आपकी बिंदु– एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

Feature Image Source: eatthis.com

loader