6 से 12 महीने के शिशु के लिए शुरूआती आहार, कब और क्या दें ?

जन्म के बाद शिशु का शुरूआती आहार माँ का दूध होता है, लेकिन जैसे-जैसे वह बड़े होने लगते हैं वैसे-वैसे उनके आहार में बदलाव की जरूरत होती है। क्योंकि, शिशु के संपूर्ण विकास के लिए उन्हें बाहरी आहार भी दिया जाना चाहिए। इसलिए, 6 महीने बाद माँ अपने बच्चे को कुछ बाहरी आहार दे सकती हैं, क्योंकि धीरे-धीरे माँ का दूध बच्चे के लिए पूर्ण रूप से पर्याप्त नहीं होता है। 

6 महीने के शिशु के लिए आहार

दाल का पानी

शिशु जब बाहरी फ़ूड लेना शुरू करते हैं तब आप उन्हें सबसे पहले दाल का पानी दे सकती हैं। क्योंकि, यह इसमें प्रोटीन और अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसलिए आप अपन शिशु को मूंग, मसूर दाल की पानी दे सकती हैं। इसके लिए आप दाल में सिर्फ नमक और हल्दी मिलाकर उबाल लें और ठंडा होने के बाद शिशु को पिलाएं।

वेजिटेबल प्यूरी

इस समय आप अपने शिशु को वेजिटेबल प्यूरी भी दे सकती हैं जैसे कि गाजर, कद्दू, आलू, या फिर पालक जैसे सब्जियों को हल्का नमक डाल कर उबाल लें और इसे प्यूरी जैसा बना कर अपने बच्चे को दें। यह शिशु के शुरूआती विकास के लिए अच्छा माना जाता है।

फल

इस समय शिशु के लिए हर वो एक चीज़ नया होता है जिसे खाते समय वह अपना मुंह बना सकते हैं। ऐसे में आप अपने शिशु को फलों का रस या फिर पकाए हुए सेब और नाशपाती या मसला हुआ केला दे सकती हैं। इन फलों को आप शिशु को दोपहर के समय में दें।

राइस जूस (माड़)

घर में जब चावल बनाएं तो उससे निकले हुए माड़ में हल्का सा नमक डालकर शिशु को पिलाएं क्योंकि, यह बेहद फायदेमंद माना जाता है। आप चाहें तो इसमें चावल को अच्छी तरह से मैस भी कर सकती हैं।

7 से 9 महीने के शिशु के लिए आहार

इस उम्र में शिशु थोड़ा-बहुत स्वाद को समझने लगते हैं। इतना ही नहीं अब वह आप लोगों के लिए तैयार किया हुआ खाना भी खा सकते हैं। इसलिए शिशु की पोषण और अन्य जरुरतों को पूरा करने के लिए आप उन्हें अलग तरह के फ़ूड को दे सकते हैं, जो निम्न हैं-

मूंग दलिया खिचड़ी

इस समय शिशु मूंग दाल की खिचड़ी को भी काफी पसंद करते हैं। इसके लिए आप अपने शिशु को मूंग दाल की खिचड़ी दे सकती हैं। लेकिन, ध्यान रहे यह थोड़ी पतली हो ताकि बच्चे इसे आसानी से खा सकें।  

नमकीन आलू-दही

बच्चे इस समय आलू बड़े चाव से खाते हैं, इसके लिए आप दही में उबले हुए आलू और थोड़ा सा नमक डालकर अपने शिशु को खिलाएं।  

सूजी खीर

इस उम्र में आने के बाद शिशु को सिर्फ दूध से काम नहीं चलता है। इसके लिए आप उन्हें सूजी का खीर दे सकती हैं। ऐसे में, आप चाहें तो एक कप सूजी को एक छोटी चम्मच घी डाल कर हल्का सा भून लें, और इसे किसी बंद कंटेनर में रख दें। उसके बाद जब शिशु को खाना खिलाना हो, तब आप आधा कप दूध गरम करें और उसमें 2 छोटे चम्मच सूजी को डालकर पूरी तरह से फूलने तक पका लें। जब यह पक जाए तब इसमें थोड़ी सी चीनी मिला कर शिशु को खिलाएं।

इन सब के अलावा, आप साबुदाने की खीर, दलिया या फिर उपमा भी अपने बच्चे को दे सकती हैं।

10 से 12 माह के शिशु के लिए आहार

अब आप अपने बच्चे को आसानी से ठोस आहार खिला सकती हैं, और साथ ही उन्हें आप स्तनपान के साथ-साथ बाहरी दूध भी दे सकती हैं।

डेयरी प्रोडक्ट

इस समय आप शिशु को पनीर, दही और दूध से बनी चीज़ें भी दे सकती हैं, जैसे कि सूजी की खीर या सेरेलेक आदि।

फिंगर फ़ूड

इस समय शिशु किसी भी चीज़ को अपने मसूड़ों से काटने की कोशिश करते हैं, क्योंकि अब उनके दांत निकलने का समय आ रहा होता है। ऐसे में, आप उन्हें कुछ फिंगर फ़ूड भी दे सकती हैं जैसे कि गाजर, केला, सेब या नाशपाती को लंबे आकार में काट कर दें।

मछली

शिशु के सम्पूर्ण विकास के लिए प्रोटीन की बहुत जरूरत होती है, इसके लिए आप मछली, लीन रेड मीट और अंडे आदि दे सकती हैं।

इसके अलावा, आप समय-समय पर पानी भी देती रहें।

इन बातों का भी रखें ध्यान-

  • नमक – अपने शिशु को एक साल से पहले नमक का सेवन न कराएं, क्योंकि इस समय आपके शिशु की किडनी पूरी तरह से विकसित नहीं हुई होती है, और वो नमक को प्रोसेस नहीं कर पाती। जिससे कि शिशु को ब्लॉटिंग और डीहाइड्रेशन हो सकता है।  

  • अंडे – 6 महीने बाद आपका शिशु ठोस पदार्थ लेना शुरू कर दे तब आप, अपने शिशु को अच्छी तरह से उबला हुआ अंडा दे सकते हैं। लेकिन, इस बात का जरूर ध्यान रखें कि इस दौरान उसे हाफ-बॉइल एग और अंडे की भुर्जी न दें।

  • मिर्चमसाले या वसायुक्त खाद्य पदार्थ न दें- शुरुआती दिनों में अपने शिशु को मिर्चमसाले या वसायुक्त खाद्य पदार्थ बिल्कुल न दें। खासकर, मीट जैसी चीजें शिशु के लिए हज़म करना मुश्किल होता है।  

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

Feature Image Source: www.healthemy.com

loader