बच्चों की मोशन सिकनेस के घरेलू इलाज

मोशन सिकनेस का उपाय- पेरेंटिंग रीसोर्सिस बाइ ज़ेनपेरेंट
गर्मी की छुट्टियाँ मतलब  घूमने निकलना। लेकिन कुछ बच्चों को चलती कार, बस , ट्रेन, फ्लाइट में चक्कर और सर घूमने की समस्या होती है। इससे बचने के लिए इन बातों का ध्यान रखें-क्या करें-1. एक नीम्बू रखें। रोड ट्रिप पर इसे सूंघने से ही मेरे बेटे को आराम मिल जाता है। पोपिंस जैसी खट्टी कैंडी या आम पापड़ भी दे सकते हैं। 2. हर घंटे रुकें, बाहर निकलें, घूमे फिरें। थोड़ा वक्त ज़्यादा लगेगा जर्नी में, लेकिन बच्चे ख़ुशी-ख़ुशी पहुँचेंगे। 3. बच्चों के साथ अन्त्याक्षरी, वर्ड गेमिंग, डम्शराद, कंट्री और कैपिटल जैसे गेम्स खेलतें रहें। अगर फ्लाईट से जाना हो तो एयरप्लेन के विङ्ग के पास की सीट लेने की कोशिश करें, यहाँ बम्प्स कम लगते हैं।क्या न करें-1. किताब ना पढ़ने दें, और मोबाइल गेम्स भी नहीं। इससे चक्कर आने की प्रॉब्लम बढ़ जाएगी। ट्रिप से पहले तेल में बनी चीज़ें खाने को न दें। 2. जूस और तेज महक वाला खाना भी न दें, एक सैंडविच सबसे अच्छा रहेगा। कार मे एसी चलाने की बजाय खिड़की खोल कर रखें। खुली हवा में घबराहट कम होती है| 3. कभी भी बैक सीट पर पीछे मुंह करके ना बिठाएं। क्योंकि गाड़ी आगे की ओर चलते समय जब भी ब्रेक लगाएगी तो बच्चे को ज़्यादा झटके महसूस होंगे| 4. ट्रिप पर जाने से पहले उनके दिमाग में मोशन सिकनेस की बात न डालें।यदि बच्चा इस प्राब्लम को लेकर पहले ही टेन्षन में हो तो उसे हंसायें और याद दिलाएं कि एक बार घूमने की जगह पहुँच गए तो बस मज़े ही मज़े।
loader