गर्भावस्था में इन 7 बदलाव से शर्मिंदा न हों आप

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक तौर पर कई बदलाव आते हैं। ये दौर बहुत कुछ बदल देता है फिर चाहे वो आपका शरीर हो या आपका व्यवहार प्रेगनेंसी में आपको पता होता है कि आपका पेट बढेगा स्ट्रेस मार्क्स  आएंगे। इसके अलावा इस दौरान कुछ ऐसी चीजें भी होती हैं जिनका आपको अंदाजा भी नहीं होता है। इससे आपको बहुत शर्मिंदगी महसूस होती है। कुछ ऐसी ही बात हम आज बता रहे हैं आपको जिसे अमूमन औरतें सांझा करने से कतराती हैं। यहां इस बात का भी ख्याल रखें कि ये जो भी आपके साथ हो रहा है उसके लिए शर्माने या संकोच की जरूरत नही है।

गैस की समस्या
इन दिनों गैस की समस्या आम हो जाती है। क्योंकि इस दौरान हार्मोनल बदलाव आते हैं। कई बार इस समस्या को खुद तक रखना मुश्किल हो जाता है। गर्भावस्था में मसल्स पर आपका कंट्रोल नहीं होता है। ऐसे में अगर परिवार में या ससुराल वालों के सामने गैस निकल जाती है तो आपको बड़ी शर्मिंदगी होती है। ऐसे में घबराएं नहीं ऐसा होना लाजमी है।
क्या करें- इस समस्या से बचने के लिए एक्र्ससाइज करें। आपनी डाइट में बदलाव लाएं। कई लोगों का मानना होता है कि इस दौरान डेरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल ज्यादा करना चाहिए। ऐसे में गैस बनना आम बात है।

Untitled design (35)

 

Image source 

यूरिन लिकेज
इस दौरान ऐसा भी होता है और आपको पता भी नही चलता है। कई बार दोस्तों और रिश्तेदार के बीच ऐसा हो जाता है वो अलग बात है। भले ये बात सिर्फ आपको पता होती है। अक्सर शायद आपने देखा और महसूस किया होगा कि ऐसा हो जाता है। कभी हंसने, खांसने या छीकने के वक्त बस कुछ बूंद ही निकलती है मगर आपको खुद से शर्मिंदगी महसूस होती है।
क्या करें– डाॅक्टर कहते हैं कि इस दौरान औरतों पैंटी लाइनर पहनना चाहिए। इसके अलावा हर दो घंटे पर वाॅशरूम जरूर जाएं।

फेशियल हेयर
प्रेगनेंसी में हाॅर्मोंस बदलते हैं इस वजह से अनचाहे बाल उग आते हैं। इसे देखकर औरतों को दुख होता है और वो डिप्रेस होने लगती हैं। चेहरे के अलावा पेट और स्तन पर भी बाल उग आना आम है।
क्या करें- ऐसी दिक्कत होती है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। ब्यूटी पार्लर जाकर वैक्स करवा सकती हैं। डाॅक्टर का मानना है कि वैक्सिंग इस दौरान सेफ है।

बदबू न दे दर्द
कई लोगों को वैसे भी पसीने की बदबू की शिकायत होती है। किसी को पोल्ट्री या सी फूड के महक से अर्लजी हो जाती है। इसके अलावा उनको खुद के शरीर से अजीब दुर्गंध आती है।
क्या करें- अक्सर गर्भावस्था के आखिरी पड़ाव पर ऐसी बदबू आती है अगर आपको लगता है कि ये सामान्य नहीं है तो डाॅक्टर से बात कर लें।

बवासीर  की समस्या
चैंकिए मत अक्सर नयी मांओं को ऐसी दिक्कत हो जाती है। इतना ही नहीं वो इस बात को किसी से सांझा नहीं करना चाहती हैं। इस दौरान कई बार काॅन्सटीपेशन की दिक्कत आती है। इससे ये समस्या उत्पन्न होती है। ये बहुत ही सामान्य समस्या है।
क्या करें- इस समस्या से बचने के लिए काॅन्सटीपेशन से बचना जरूरी है। इसके लिए खूब पानी पिएं, खाने में फाइबर बढ़ा दें। डाॅक्टर को भी इस बारे में जरूर बताएं।

मुंहासे और फुंसी 
चेहरे पर फुंसी  और मुंहासे भी इस दौरान हो सकते हैं। गर्भ के पहले तीसरे महीने तक ये समस्या होती है।
क्या करें- ऐसा होने पर डाॅक्टर को बताएं। एक्ने को धुलकर उनसे छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा अगर एंटी पिंपल प्रोडक्ट अगर इस्तेमाल करना है तो डाॅक्टर की सलाह ले लें।

Untitled design (36)

Image Source 

बढ़ता वजन
बढ़ता वजन किसी चिंता का विषय नही है। अपने जीवनसाथी और अपने बीच वजन को कतई न आने दें। कुछ लोगों गर्भ धारण के बाद सेक्स में संकोच आता है।
क्या करें- इस बात की चर्चा करना अगर आपको संकोच में डाल रहा है तो इससे बाहर निकलें। अपनी इंटीमेसी की इच्छा को डाॅक्टर से बताएं।

                                                                 Featured Image 

loader