Easy Tips


बच्चों में छुड़ाएं नेल बा‍इटिंग की आदत

 

मुंह से नाखून काटने की बुरी आदत बहुत ही आम बात है। यह आदत खराब होने के साथ-साथ स्वास्थय के लिए बहुत ही ख़तरनाक है। क्योंकि नाखूनों में जमी गंदगी, मुंह के द्वारा सीधे पेट में जाती है जिससे पेट संबधी कई बीमारियां होने का डर रहता है। ऐसे में बेहतर होगा की आप अपने बच्चों को इन बुरी आदत से जल्द से जल्द दूर कर दें। तो देर किस बात का आएये कुछ टिप्स के जरिये बच्चों के नाखून चबाने की इस बुरी आदत को दूर करें-

 

ट्रैक इट डाउन– सबसे पहले आप अपने बच्चों की आदतों को परखें की क्या वो कर रहें हैं। साथ ही अपने बच्‍चे को यह समझाएं की नेल बाइटिंग बहुत गंदी आदत है और अगर वह ऐसा ही करता रहेगा तो उसके दोस्त उसका मजाक बनाएगें।

 

बार-बार याद दिलाएं- जब भी आप अपने बच्चों को मुँह से नाखून काटते देखें उसी समय टोक दें। क्योंकि हमलोगों में भी कई बार ऐसा होता है की जब मुंह से नाखून काटते हैं तो कभी-कभी हाथ की चमड़ी कट जाती है तब हमारा ध्यान उस ओर जाता है, या फिर जब कोई कुछ कहता हो तब। इसलिए अपने बच्चों को भी याद दिलाएं जब वो नाखून काट रहा हो।

 

धीरे-धीरे आदत छुड़ायें- यदि आपके बच्चे बार-बार नाखून को मुंह में लेकर चबा या काट रहें हैं तो, आप अपने बच्चों को ये हिदायत दें की दोनों में से किसी भी हाथ के नाखून 2 दिन तक नहीं कटने चाहिए। साथ में ये भी प्रलोभन दें की अगर वो ऐसा मानते हैं तो उन्हें एक अच्छी सी गिफ्ट दी जाएगी। तो मुझे यकींन है की ये तरीका आपके बच्चों के बुरी आदत को जरूर दूर कर देगा।

 

नाखूनों को ट्रिम करें-अपने बच्चों के नाखूनों को हर 15 दिनोंमें ट्रिम करें, या बच्चों से ही अपनेनाखूनोंकोकाटनेकोबोलें। जब हाथों में नाखून नहीं रहेंगा तो वह नहीं कुतरेगा।

 Untitled design (65)

नेल आर्ट- नेल आर्ट भी एक सही तरीका है नेल बाइटिंग  जैसी गंदी आदतों को छुड़ाने के लिए। ऐसे में आप अपने बच्चों के नाखूनों पर नेल पॉलिश लगा दें, फिर जब भी वह नाखून कुतरेगा तो उसे नेल पॉलिश का कड़वा टेस्ट मिलेगा जिससे की वो इस काम को  दुबारा करने से खुद को रोकेगा।

 

बच्चों को व्यस्त रखें- बच्चे सबसे ज्यादा नाखून तब कुतुरते हैं जब वह काफी डरे हुए होते हैं या फिर जब वह बोर हो रहे होते हैं। ऐसे में अपने बच्चों को किसी काम में या खेल में बिजी कर दें जैसे, पज्‍जल, क्राफ्ट वर्क या बुक रीडि़ग आदि के रूप में।

 

कैल्सियम की टेस्ट करायें- अपने बच्चों में कैल्सियम की टेस्ट करायें, क्योंकि हो सकता है की नाखून चबाने की  आदत बच्चों में कैल्सियम की कमी के कारण हो। ऐसे में कैल्सियम की कमी को दूर करने के लिए उनके खानों में डेयरी उत्पाद, हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें।

 

अंत में आपको बताना चाहेंगे की बच्चों के इन गन्दी आदतों के लिए कभी भी डांटे या मारे नहीं। इससे बच्‍चे और अधिक जिद्दी हो जाते हैं। केवल प्‍यार और केयर से ही आप उसे सुधार सकते हैं।

                                                     Featured image 

Published On  December 28, 2015 By